डीएम ने दिए मुकदमा दर्ज कराने के आदेश

चुनाव ड्यूटी के दौरान ड्यूटी से गायब रहे थे मतदानकर्मी

MEERUT। इलेक्शन ड्यूटी से गायब रहने वाले मतदानकर्मियों पर कार्रवाई तय है। डीएम अनिल ढींगरा ने ऐसे 82 कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के आदेश दिए हैं। विभिन्न विभागों के यह कर्मचारी पीठासीन, प्रथम मतदान अधिकारी, द्वितीय मतदान अधिकारी, तृतीय मतदान अधिकारी और अतिरिक्त मतदान अधिकारी के तौर पर पोलिंग बूथ पर तैनात किए गए थे।

कार्रवाई की जद में 82

मेरठ समेत वेस्ट यूपी की 8 लोकसभा सीटों पर लोकसभा चुनाव के प्रथम चरण में 11 अप्रैल को मतदान प्रक्रिया संपन्न हुई। डीएम अनिल ढींगरा के कड़े आदेश के बावजूद पोलिंग बूथ पर तैनात जनपद के करीब 82 कर्मचारियों ने इलेक्शन ड्यूटी को ज्वाइन नहीं किया। आनन -फानन में जिला प्रशासन को इन गैर हाजिर कर्मचारियों के स्थान पर रिजर्व कर्मचारियों की तैनाती करनी पड़ी तो वहीं अव्यवस्था हुई सो अलग। लापरवाही पर सख्त डीएम ने सभी ऐसे कर्मचारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के आदेश दिए जिन्होंने 8 अप्रैल तक इलेक्शन ड्यूटी के लिए हो रहे प्रशिक्षण में हिस्सा नहीं लिया।

अनुपस्थित कर्मचारी

24-पीठासीन अधिकारी

13-प्रथम मतदान अधिकारी

15-द्वितीय मतदान अधिकारी

28-तृतीय मतदान अधिकारी

2-अतिरिक्त मतदान अधिकारी (2बी)

82-कुल अनुपस्थित

डीएम के निर्देश पर सभी ऐसे कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज होगा, जिन्होंने लगातार अल्टीमेटम के बाद भी इलेक्शन ड्यूटी नहीं की है। अंतिम दिन तक प्रशिक्षण में करीब 82 ऐसे कर्मचारी चिह्नित किए गए थे जो गैरहाजिर थे।

रामचंद्र, एडीएम, प्रशासन