तड़के आया भूकंप
दक्षिणी हिंद महासागर में शनिवार सुबह-सुबह भूंकप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर इनकी तीव्रता 7.1 बताई जा रही है, लेकिन इससे जान-माल की किसी प्रकार की क्षति होने की सूचना नहीं आयी है। शुरूआती खबरो के अनुसार जिलॉजिकल विभाग के द्वारा सुनामी की चेतावनी नहीं जारी की गई है। जानकारी के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया के सटे हिंद महासागर के तटीय इलाकों में भूंकप का झटका ज्यादा महसूस किया गया है।

समुद्र के नीचे था भूकंप का केंद्र
भारतीय समय के अनुसार हिंद महासागर में भूकंप के झटके शनिवार तड़के 3.24 बजे आया। केन्द्र पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया में बताया जा रहा है। यूनाइटेड स्टेट्स जोयिलोजिकल सर्वे (यूएसजीएस) के मुताबिक, भूकंप का केन्द्र समुद्र में 10 किलोमीटर की गहराई में था।

भूकंप आने का कारण
जयोलॉजिकल सर्वे के अनुसार बताया गया है कि पृथ्वी के अंदर 7 प्लेट्स हैं जो लगतार घूम रही हैं। जहां ये प्लेट्स ज्यादा टकराती हैं, वह जोन फॉल्ट लाइन कहलाता है। बार-बार टकराने से प्लेट्स के कौने मुड़ते हैं। जब ज्यादा दबाव बनता है तो प्लेट्स टूटने लगती हैं। नीचे की एनर्जी बाहर आने का रास्ता खोजती। जिसके चलते डिस्टर्बेंस पैदा होता है और इसके बाद भूकंप आता है।

inextlive from World News Desk

International News inextlive from World News Desk