- सड़कों पर हुए कब्जे के कारण त्योहारी मौसम में जाम से हर कोई परेशान, नहीं है डिपार्टमेंट का ध्यान

1ड्डह्मड्डठ्ठड्डह्यद्ब@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

ङ्कन्क्त्रन्हृन्स्ढ्ढ

शहर में जाम के झाम के साथ ही रविवार से ट्रैफिक पुलिस की ओर से ट्रैफिक मंथ की शुरुआत कर दी गई. यातायात जागरुकता रथ को हरी झंडी दिखाकर एसएसपी आकाश कुलहरि व एसपी ट्रैफिक डॉ बीएन तिवारी ने रवाना किया. इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहां कि सड़कों पर तेज रफ्तार फर्राटा भर रहे बाइक सवारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. प्रेशर हार्न बजाने वालों की भी खैर नहीं. इसके साथ चौराहों पर यातायात नियमों की अनदेखी करने वाले भी बख्शे नहीं जाएंगे और जरूरत पड़ने पर उन्हें जेल की हवा खानी होगी.

जाम का क्या होगा?

ये सवाल बड़ा है कि ट्रैफिक मंथ की शुरुआत तो हो गई है लेकिन जाम का झाम खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. डेली कबीरचौरा, लोहटिया, मैदागिन, चौक, गोदौलिया पर हुआ अतिक्रमण जाम की वजह बन गया है और इसे हटाने के लिए कोई प्लैनिंग किसी के पास नहीं है. वहीं सड़क पर दूसरे रोड़ों को हटाने के लिए दावें हो रहे हैं. इस बारे में अधिकारियों का कहना है कि रोड कटिंग करने वाले कार्यदायी एजेंसियों के ठेकेदारों को 15 दिन के अंदर कार्य पूरा नहीं करने पर उन्हें काली सूची में डालकर आगे से उनकी कंपनी को कोई भी काम नहीं दिया जाएगा. बिना अनुमति के सड़क खोदाई करने वालों को भी छोड़ा नहीं जायेगा.

तीन करोड़ वसूली का लक्ष्य

जाम के बीच शुरू हुए ट्रैफिक मंथ में जाम खत्म होगा या नहीं ये तो नहीं पता लेकिन ट्रैफिक पुलिस इस मंथ में वसूली की तैयारी जरूर किए बैठी है. नवंबर माह तक चलने वाले यातायात माह के दौरान तीन करोड़ राजस्व वसूली का लक्ष्य है. काली फिल्म उतारने व हेल्मेट न लगाने वालों के खिलाफ अभियान चलेगा. जागरुकता रथ पूरे शहर में एक माह तक घूमकर यातायात नियमों का प्रचार-प्रसार करेगा. रथ के माध्यम से यातायात नियमों की जागरूकता पंपलेट बांटे जा रहे है. इस दौरान मौके पर प्रभारी टीआई अविचल पांडेय, आरआई, दीनाथाथ सिंह समेत कई अन्य लोग मौजूद थे.