-एसएसपी ने पुलिस लाइंस में मीटिंग में सभी थानों के हेड मोहर्रिर और सीसीटीएनएस कर्मियों को दिए सख्त निर्देश

-सभी थानों में बनाया जाएगा रिसेप्शन, खोए सामान की गुमशुदगी दर्ज करने के लिए नहीं मांगा जाएगा शपथ पत्र

BAREILLY: झगड़े में चोटिल होने पर पुलिस एनसीआर दर्ज कर मेडिकल के इंतजार में खानापूर्ति नहीं कर सकेगी. अब घायल होने के मामले में एफआईआर ही दर्ज करनी होगी. एसएसपी कलानिधि नैथानी ने सभी थानों को इस संबंध में सख्त निर्देश जारी किए हैं. संडे को पुलिस लाइंस में हेड मोहर्रिर और सीसीटीएनएस कर्मियों के साथ चली तीन घंटे की मैराथन मीटिंग में एसएसपी ने एनसीआर के अलावा कई अन्य प्वाइंट पर सख्त निर्देश दिए हैं. एसएसपी ने सभी थानों में पब्लिक के लिए रिसेप्शन ओपन करने के निर्देश दिए हैं. इसके अलावा खोए हुए सामान की गुमशुदगी बिना शपथ पत्र ही दर्ज की जाएगी. यदि हेड मोहर्रिर को कोई प्रॉब्लम आती है तो सीधे एसपी सिटी या रूरल से बात कर सकते हैं.

यह भी दिए हैं निर्देश

-थानों पर पेंडिंग माल के निस्तारण के लिए लिस्ट तैयार कर कोर्ट से आदेश प्राप्त कर निस्तारण कराया जाए.

-थानों पर एफआईआर का वर्क करप्शन फ्री रहे. यदि शिकायत मिले तो संबंधित पुलिसकर्मी के खिलाफ एक्शन होगा, एसएचओ को भी नहीं बख्सा जाएगा.

-सभी थानों में कोर्ट से प्राप्त सम्मन, वारंट की डिटेल अपडेट रखी जाए. पैरोकार की जिम्मेदारी होगी कि डेली कोर्ट से प्राप्त सम्मन व वारंट थाने में दाखिल कराएं

-प्रत्येक थाने पर इंटरनेट की प्रॉब्लम दूर करने के लिए बंद चल रहे लैंड लाइन नंबर ठीक कराए जाएंगे और इंटरनेट कनेक्शन भी कराए जाएंगे

-थाने में आने वाले फरियादी को कागज देने से मना नहीं किया जाएगा, शपथ पत्र के नाम पर भी कोई वसूली न की जाए.

-पीडि़त की शिकायत पर तुरंत पुलिस मौके पर भेजी जाएगी. असहाय पीडि़त का ध्यान रखा जाए.

-चोरी-लूट की सूचना मिलने पर डिस्ट्रिक्ट का फोर्स खुद एक्टिव हो जाएगा.

-फरियादी के लिए ठंडे पानी की व्यवस्था की जाए.

-थानों में आने वाली शिकायतों का रजिस्टर बनाए जाए.

-प्रत्येक थाने पर महिला परामर्श और समाधान दिवस की अलग-अलग फाइल बनायी जाए.

-विपक्षीगण दूसरे थाने के हैं तो क्यू मेल से सम्बंधित थाने को सूचना करायी जाए.