- नगर निगम की अनदेखी से घंटाघर के व्यापारी हुए परेशान

- जलभराव की समस्या दूर हुई तो सड़क हुई खराब

Meerut. रेलवे रोड तिराहे से घंटाघर तक की सड़क खस्ताहाल हो चुकी है. सड़क पर रोड़ी फैल गई है, जिसके कारण आए दिन दुर्घटनाएं होती है. रोड़ी के कारण वाहन फिसल जाते हैं. वहीं घंटाघर के व्यापारी खस्ताहाल सड़क से परेशान हो गए हैं.

बेहाल हुई सड़क

घंटाघर के व्यापारियों को तीन माह बाद जलभराव की समस्या से निजात मिली थी. वह भी जब घंटाघर के व्यापारियों से निगम के खिलाफ मोर्चा खोला. अब खस्ताहाल सड़क ने स्थानीय लोगों को जीना दुश्वर कर रखा है.

आंदोलन की तैयारी

खस्ताहाल सड़क से परेशान व्यापारी नगर निगम के खिलाफ आंदोलन करने की तैयारी कर रहे हैं. व्यापारियों का कहना है कि बिना आंदोलन किए नगर निगम के अधिकारी सुनते नहीं है.

नगर निगम से अनेक बार सड़क निर्माण करने की मांग कर चुके हैं, लेकिन नगर निगम के अधिकारी हैं कि सुनने को तैयार ही नहीं है. खस्ताहाल सड़क के कारण आए दिन दुर्घटना होती हैं.

-प्रदीप जैन, महामंत्री तीर्थाकर महावीर मार्ग व्यापार संघ

जलभराव की समस्या से जैसे निजात पाई थी. वैसे ही सड़क के लिए करना पड़ेगा. जलभराव की समस्या से निजात पाने के लिए सड़क जाम करनी पड़ी थी. तब जाकर निगम के अधिकारी की आंखे खुली थी.

-अनिल कुमार, सदस्य तीर्थाकर महावीर मार्ग व्यापार संघ

सड़क निर्माण के लिए अनेक बार व्यापारी निगम के अधिकारी से मिल चुके हैं. लेकिन अधिकारी हैं कि सुनने को तैयार नहीं है. यदि जल्द ही सड़क का निर्माण नहीं हुआ तो इस बार निगम के अधिकारियों को सड़क निर्माण होने तक हिलने नहीं देंगे.

-मयंक, सदस्य तीर्थाकर महावीर मार्ग व्यापार संघ

-------

घंटाघर सड़क निर्माण का मामला संज्ञान है. आचार संहिता के चलते नए टेंडर किया नहीं जा सकता था. आचार संहिता खत्म हो गई है जल्द ही घंटाघर की सड़क का निर्माण करा दिया जाएगा.

-कुलभूषण वाष्र्णेय चीफ इंजीनियर