-मोहल्ले के युवक ने साथी के साथ बोला हमला

-पहले सिर पर दंपत्ति के डंडे से किया वार,

bareilly@inext.co.in
BAREILLY: इज्जतनगर थाना अंतर्गत बजरंग ढाबा के पास पीलीभीत बाईपास पर बाइक सवार दंपत्ति पर एसिड अटैक कर दिया. एसिड अटैक का आरोप मोहल्ले के युवक व उसके साथियों पर लगा है. युवक भी बाइक से आया था और उसने सबसे पहले दंपत्ति पर डंडे से हमला किया. दोनों के सिर पर डंडे से बार करने के बाद एसिड उड़ेल दिया गया. जिससे दोनों लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. महिला ने सड़क पर दौड़कर मदद मांगी तो एक राहगीर ने यूपी 100 को सूचना दी. पुलिस ने दोनों को हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है. महिला को गंभीर हालत होने पर हायर सेंटर रेफर किया गया है. एसएसपी मुनिराज जी और सीओ सिटी थर्ड अशोक मीणा भी मौके पर पहुंचे और पूछताछ की. एसएसपी ने बारादरी, इज्जतनगर थाना पुलिस के साथ क्राइम ब्रांच की टीम को भी लगाया है.

घर के बाहर बोला हमला

जगदीश, मूलरूप से रिठौरा, हाफिजगंज का रहने वाला है. वह पेशे से ऑटो ड्राइवर है. वह बीडीए कॉलोनी तुलाशेरपुर इज्जतनगर में रहता है. कॉलोनी में जहानाबाद निवासी कुलदीप भी रहता है. कुलदीप भी पेशे से ऑटो ड्राइवर है. कुलदीप ने जगदीश को 4 हजार रुपए उधार दिए थे, जिसको लेकर विवाद चल रहा था. यही नहीं कुलदीप, जगदीश की पत्‍‌नी कोमल पर बुरी नजर रखता था और उससे जबरन अवैध संबंध बनाना चाहता था. इसको लेकर झगड़ा भी हो चुका था.

रिठौरा से लौट रहे थे घर

जगदीश ने बताया कि संडे शाम को वह पत्‍‌नी कोमल के साथ रिठौरा से बाइक से बीडीए कॉलोनी आ रहा था. जैसे ही वह संजय नगर तिराहा से पहले बजरंग ढाबा के पास पहुंचे कि तभी बाइक से कुलदीप अपने साथी के साथ आ गया. दोनों ने उनका रास्ता रोक लिया और सिर पर डंडे से वार कर दिया. उसके बाद उसने एसिड डाल दिया. एसिड कोमल के चेहरे, चेस्ट व अन्य हिस्से पर पड़ा है. इसके अलावा जगदीश के फेस, पैर व अन्य हिस्से पर एसिड पड़ा है. जगदीश की दाहिनी आंख भी झुलस गई है.

सड़क पर भागकर मांगी मदद

डंडे के बाद एसिड अटैक से दोनों दंपत्ति सड़क पर ही तड़पने लगे. इसी दौरान कोमल ने हिम्मत दिखाते हुए सड़क पर दौड़ लगा दी और कुछ दूर पर बाइक सवार से मदद मांगी. बाइक सवार ने तुरंत यूपी 100 को सूचना दी. सूचना मिलते ही यूपी 100 मौके पर पहुंची और दंपत्ति को हॉस्पिटल में एडमिट कराया. दंपत्ति पर एसिड अटैक से पुलिस में हड़कंप मच गया. मौके पर एसएचओ इज्जतनगर उपेंद्र यादव और बारादरी एसएचओ सतीश कुमार पहुंचे.

हॉस्पिटल में नहीं मिला इलाज

गंभीर रूप से घायल कोमल को हालत गंभीर होने पर रुहेलखंड मेडिकल कॉलेज में एडमिट कराया गया लेकिन वहां से उसे लाइफलाइन हॉस्पिटल में रेफर कर दिया गया. वहां भी इलाज न मिलने से उसे एसआरएमएस में एडमिट कराया गया है. यहां भी इलाज में दिक्कत हुई तो एसएसपी ने महिला के इलाज के निर्देश दिए हैं. पुलिस टीम को भी इलाज में किसी भी तरह की दिक्कत न हो, इसके लिए लगाया गया है. पुलिस परिजनों के बताने के आधार पर कार्रवाई कर रही है.

एसिड की मात्रा काफी अधिक

जिस तरह से एसिड से दंपत्ति झुलसे हैं, उससे एसिड की मात्रा काफी अधिक है, ऐसे में पुलिस पता लगा रही है कि कुलदीप किसमें भरकर एसिड लाया था. क्या उसका पहले से ही एसिड अटैक का प्लान था. उसके साथ कौन था. उसे इतनी मात्रा में एसिड आसानी से कैसे मिल गया.

पहले भी हो चुके एसिड अटैक

बरेली में एसिड अटैक के मामले पहले भी सामने आ चुके हैं. एक वर्ष पूर्व कैंट थाना अंतर्गत युगवीणा में शादी समारोह के दौरान दुल्हन पर एसिड अटैक कर दिया गया था. एसिड अटैक एक छात्रा ने अपनी बहन के साथ मिलकर किया था. पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था. फरीदपुर में एक महिला ने एसिड अटैक किया गया था. नवाबगंज में दो ग‌र्ल्स पर भी एसिड अटैक हो चुका है.

खुले में बिकता है एसिड

एसिड की खुले में बिक्री पर पूरी तरह से रोक लगी हुई है, लेकिन इसके बावजूद शहर में खुलेआम एसिड मिल जाता है. एसिड को स्टोर करने और एसिड की बिक्री का रिकार्ड दुकानदार को रखना होता है. जिला प्रशासन को भी इस पर निगरानी रखनी होती है और इसके लिए एक मजिस्ट्रेट भी नियुक्त होता है, जो भी दुकानदार एसिड बेचता है तो उसे आईडी भी खरीदार की लेनी होती है, लेकिन ऐसा नहीं होता है. कोई भी खुलेआम कितना भी एसिड खरीद सकता है. जब भी एसिड अटैक के मामले होते हैं तो पुलिस-प्रशासन हरकत में आता है, लेकिन उसके बाद सभी शांत बैठ जाते हैं.

दंपत्ति पर घर लौटते वक्त एसिड अटैक हुआ है. एसिड अटैक की वजह अवैध संबंध न बनाना बताया गया है. आरोपी की गिरफ्तारी के लिए टीमें लगा दी गई हैं. खुले में एसिड बेचने वालों की भी धरपकड़ की जाएगी.

मुनिराज जी, एसएसपी