- कुठाल गेट से लाइब्रेरी चौक तक अतिक्रमण की होगी पड़ताल

- एडीएम के अध्यक्षता में कमिश्नर ने गठित की कमेटी

- एक हफ्ते में देनी होगी कमेटी को जांच रिपोर्ट

DEHRADUN: मसूरी में कुठालगेट से लेकर लाइब्रेरी चौक तक अतिक्रमण हटाने के लिए प्रशासन ने कमर कस ली है. इस पूरे क्षेत्र में सड़कों के किनारे रेहड़ी, खोखे लगाकर लोगों ने अस्थाई अतिक्रमण किया हुआ है. इसके साथ ही स्थाई अतिक्रमण भी इस दायरे में है. अतिक्रमण को हटाने के लिए गढ़वाल कमिश्नर ने एडीएम की अध्यक्षता में कमेटी गठित की है.

समिति गठित कर की रिपोर्ट तलब

गढ़वाल कमिश्नर दिलीप जावलकर के आदेश पर एडीएम एफ बीरसिंह बुदियाल की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई गई है. इस कमेटी में एमडीडीए के सचिव, एसडीएम मसूरी, सीओ मसूरी, सहायक वन संरक्षक मसूरी और ईई पीडब्ल्यूडी मसूरी को सदस्य के रूप में शामिल किया गया है. समिति को एक हफ्ते में सभी अतिक्रमणों की जांच करके रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है.

इन बिंदुओं पर रिपोर्ट देगी समिति

-कुठाल गेट से लाइब्रेरी चौक और पिक्चर पैलेस तक कुल कितनी स्थाई और अस्थाई दुकाने हैं.

- क्या इन दुकानों को चलाने के लिए एमडीडीए, दून घाटी विशेष क्षेत्र प्राधिकरण, खाद्य सुरक्षा विभाग और रोड साइड कंट्रोल एक्ट के लिए मंजूरी ली गई है.

-क्या इन दुकानों द्वारा पर्यावरण नियमों का पालन किया जा रहा है.

- क्या अनुमति प्राप्त दुकानों में कूड़ा निस्तारण और पार्किंग आदि की व्यवस्था है.

-इन दुकानों से कानून व्यवस्था, यातायात, पर्यावरण और पर्यटक सुरक्षा पर क्या असर पड़ रहा है.

- अनियमितता पाये जाने पर क्या संबंधित विभाग ने आज तक कोई कार्रवाई की है.