टॉल फ्री नंबर

- 18001802877

- 9415049606

- स्कूली वाहनों पर 100 नंबर के साथ ही परिवहन विभाग के टॉल फ्री नंबर भी अंकित किए जाएंगे

- यदि स्कूली वाहन चालक शराब पीता है या बच्चों को बिठाकर सिगरेट या धूम्रपान करता तो तत्काल दें सूचना

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: स्कूली वाहन चलाने वाले नशेबाज चालकों पर लगाम लगाने की तैयारी परिवहन विभाग ने कर ली है. इसके तहत सभी स्कूली वाहनों पर अब विभाग के टॉल फ्री नंबर भी अंकित किए जाएंगे. जिस पर आम जनता नशेबाज ड्राइवरों की सूचना विभाग को दे सकेगी. जिसके बाद ऐसे चालकों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. यही नहीं प्रवर्तन दस्तों को भी स्कूली वाहन चालकों की चेकिंग के लिए अलर्ट किया गया है. अब कोई भी ड्राइवर स्कूली वाहन नशे में चलाता पाया जाएगा तो उसका लाइसेंस तत्काल निरस्त कर दिया जाएगा. साथ ही परिवहन विभाग कई कड़े नियम बनाने पर भी गंभीरता से विचार कर रहा है.

ब्रेथ एनालाइजर से पकड़ेंगे

परिवहन विभाग के दस्ते अब स्कूली वाहनों की जांच के दौरान ब्रेथ एनालाइजर से ड्राइवरों की भी चेकिंग कर देखेंगे कि कहीं वे नशे में तो नहीं हैं. अभी तक स्कूली वाहन चालकों की जांच ब्रेथ एनालाइजर से राजधानी में कभी नहीं की गई है. इसके लिए परिवहन विभाग की ओर से तैयारियां शुरू कर दी गई हैं.

इसलिए उठाया कदम

हाल ही में राजधानी का एक स्कूली वैन चालक बच्चों से भरी स्कूली वैन को देसी शराब के ठेके के बाहर खड़ी करके शराब पीने गया था. सोशल मीडिया पर इसका वीडियो वायरल हो गया था. इस वीडियो के वायरल होने के बाद ही परिवहन विभाग ने ऐसे नशेबाज ड्राइवरों पर शिकंजा कसने की तैयारी की है.

लोग भी आगे आएं

परिवहन विभाग के अधिकारियों के अनुसार स्कूली वाहनों के चालकों की नशे की लत बड़ी दुर्घटना का कारण बन सकती है. इस मामले में पैरेंट्स और नागरिकों को भी आगे आना होगा. आम जनता और पैरेंट्स अगर किसी स्कूली वाहन चालक को नशा करते देखें तो वे तत्काल इसकी सूचना या फोटो खींचकर विभाग के अधिकारियों को उपलब्ध कराएं. ड्राइवर के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा. साथ ही जानकारी देने वालों से किसी तरह की पूछताछ नहीं की जाएगी. यही नहीं आरटीओ प्रवर्तन दस्तों को ब्रेथ एनालाइजर के लिए बजट जारी किया गया है, जिससे वे इससे स्कूली वाहन चालकों की कभी भी चेकिंग कर सकें.

कोट

स्कूली वाहनों की जांच के लिए प्रवर्तन दस्तों को एलर्ट किया गया है. दस्तों में शामिल सभी अधिकारियों को अपने साथ ब्रेथ एनालाइजर रखना होगा. जिससे वे कभी भी यह जांच कर सकेंगे कि ड्राइवर नशे में तो नहीं है.

वीके सिंह, अपर परिवहन आयुक्त प्रवर्तन

परिवहन विभाग

बॉक्स

ऐसे कसेंगे लगाम

अभी स्कूली वाहनों पर वाहन मालिक, चालक का नाम, उनका मोबाइल नंबर और फिटनेस की डिटेल ही अंकित की जाती है. लेकिन अब स्कूली वाहनों पर ये निर्देश भी अंकित करने होंगे..

- 100 नंबर के साथ परिवहन विभाग का टॉल फ्री नंबर 18001802877 और 9415049606 स्कूली वाहनों पर किया जाएगा अंकित.

- यदि स्कूली वाहन चालक शराब पीता है या फिर बच्चों को बिठाकर सिगरेट या धूम्रपान करता तो इन नंबरों पर तत्काल सूचना दें.

- यदि स्कूली वाहन चालक हेडफोन लगाकर वाहन चलाता है तो भी इसकी सूचना भी इन नंबरों पर दी जा सकती है.

बाक्स

यह होगा एक्शन

- शराब पीकर स्कूली वाहन चलाते हुए पकड़े जाने पर पहली बार में लाइसेंस निरस्त होगा. दूसरी बार पकड़े जाने पर चालकों को स्कूली वाहन चलाने की अनुमति नहीं मिलेगी, उन्हें ब्लैक लिस्ट कर दिया जाएगा.

- सिगरेट पीकर स्कूली वाहन चलाने पर पहली बार चालान किया जाएगा. दूसरी बार पकड़े जाने पर लाइसेंस निरस्त किया जाएगा. चार बार से अधिक पकड़े जाने पर ड्राइवर स्कूली वाहन चलाने के अयोग्य कर दिया जाएगा.

- वाहन स्वामियों को भी ऐसे मामलों में जुर्माना भरने को बाध्य किया जाएगा. उन्हें ऐसे चालकों से दूरी बनानी होगी.