- मोबाइल एप पर मिलेगी सभी सरकारी योजनाओं और विभागों की जानकारी

- जनता की मुश्किलें आसान करने के लिए डीएम ने की पहल

varanasi

जन्म प्रमाण पत्र बनवाना हो या किसी प्रकार का प्रमाण पत्र, अधिकतर लोगों को उनके विभाग और प्रक्रिया के बारे में जानकारी नहीं होती है. काम कराने के लिए वह दलालों के चक्कर में पड़ जाते हैं. पब्लिक को परेशानी से बचाने के लिए डीएम सुरेंद्र सिंह ने अनूठी पहल की है. वह एक ऐसा मोबाइल एप तैयार करा रहे हैं जिसमें लोगों को सरकारी कामों और योजनाओं से संबंधित सभी जानकारी मिल सकेगी. इस एप का नाम 'काशी' रखा जाएगा.

नहीं लगाना होगा चक्कर

डीएम ने बताया कि ऐसा एप बनाने का विचार उन्हें जनसुनवाई के दौरान आया. आम लोग छोटे-छोटे काम और शिकायतें लेकर सीधे उच्चाधिकारियों के यहां आ धमकते हैं जबकि यह काम बड़ी आसानी से सिर्फ सही विभाग में सही टेबल पर जाकर भी हो सकता है. इस भागदौड़ में पब्लिक परेशान होती है. प्रशासनिक अफसर चाहते हैं कि जनता को हर काम में आसानी हो मगर काम का बोझ बढ़ने पर क्लर्क और बाबू स्तर के कर्मचारी जानबूझकर लोगों को अगले दिन पर टाल देते हैं और लोगों का काम टलता चला जाता है.

ऐसे काम करेगा 'काशी'

नए मोबाइल एप में सारे सरकारी कामकाज का ब्योरा दर्ज होगा. लोगों को सर्च ऑप्शन में अपनी जरूरत यानी जन्म प्रमाण पत्र, हैसियत प्रमाण पत्र, शस्त्र लाइसेंस, वाहन लाइसेंस, चरित्र प्रमाण पत्र आदि टाइप करना होगा. एप उन्हें बताएगा कि इसके लिए उन्हें किस विभाग के किस पटल पर जाना होगा और अपने साथ क्या-क्या कागजात ले जाना होगा. एप में संबंधित विभाग का पता और परेशानी की स्थिति में दफ्तर का फोन नंबर और गूगल लोकेशन भी दर्ज होंगे.

योजनाओं की भी मिलेगी जानकारी

मोबाइल एप में सूचनाओं के अलावा सरकार की सभी कल्याणकारी योजनाओं और उनका लाभ लेने के बारे में जानकारी भी मिलेगी. इसमें लाभार्थियों का वर्गीकरण, आयवर्ग संबंधी जानकारियां होंगी और यह भी सूचना रहेगी कि कब तक और कौन लोग इनके लिए आवेदन कर सकते हैं.

सरकारी विभागों के कामकाज के लिए लोग किसी ऐसे शख्स को तलाशते हैं जिसे सारी जानकारी हो. लोगों की इसी अज्ञानता का फायदा उठाकर दलाल उनसे मोटी रकम ऐंठ लेते हैं और कई बार उनका काम भी नहीं होता. वाराणसी जिला प्रशासन प्रदेश में यह पहला प्रयोग करने जा रहा है. एप लांच होने के बाद ग्रामीण और शहरी लोग किसी की मदद के मोहताज नहीं रह जाएंगे और खुद ही अपना काम आसानी से करा सकेंगे.

बयान

जनता की दिक्कतों को देखते हुए इस मोबाइल एप की तैयारी की गई है. इसे जल्द ही लांच कराया जाएगा. उम्मीद है कि इसकी शुरुआत के बाद लोगों को सरकारी कामकाज में किसी तरह की दिक्कत नहीं होगी.

सुरेंद्र सिंह, डीएम