सेशन 2019-20 में विभिन्न कोर्सेज के लिए शुरू हुआ एंट्रेंस टेस्ट का दौर

पहले दिन बीकॉम, एलएलबी और बीएड कोर्स के लिए हुआ टेस्ट

VARANASI : बीएचयू में सेशन 2019-20 के विभिन्न यूजी व पीजी लेवल कोर्सेज में एडमिशन के लिए एंट्रेंस टेस्ट की शुरुआत रविवार से हुई। देश भर के 45 शहरों में 14 मई से एंट्रेंस टेस्ट पेन पेपर मोड (ओएमआर आधारित) और 115 शहरों में सीबीटी (कंप्यूटर आधारित) मोड से आयोजित की जा रही है। पहले दिन बीएचयू में दो शिफ्ट में टेस्ट का आयोजन किया गया था। फ‌र्स्ट शिफ्ट में 9.00 से 11.30 बजे तक बीकॉम और एलएलबी कोर्स के लिए टेस्ट का आयोजन किया गया। कैंपस और कैंपस के बाहर टेस्ट सेंटर बनाये गये थे। वहीं सेकेंड शिफ्ट में 3.00 बजे से 5.00 बजे तक टेस्ट का आयेाजन किया गया था। सबसे अधिक बीकॉम कोर्स में एडमिशन के लिए 30,624 कैंडीडेट्स रजिस्टर्ड थे। वहीं एलएलबी कोर्स के लिए 10,092 स्टूडेंट्स रजिस्टर्ड थे। एंट्रेंस टेस्ट को सकुशल संपन्न कराने के लिए टीम बनाई गई थी। टीम ने लगातार परीक्षा केन्द्रों का भ्रमण किया। प्रॉक्टोरियल बोर्ड के लोग भी सेंटर्स पर भ्रमण करते रहे.

सेंटर तक पहुंचा रही थी बस

बीएचयू गेट से कैंपस में सभी सेंटर के लिए मुफ्त में बस सेवा की व्यवस्था की गई थी। बीएचयू मेनगेट पर वालेंटियर्स भी तैनात थे। भीषण गर्मी को देखते हुए कैंडीडेट्स और उनके परिजनों के लिए सभी टेंट, कुर्सी, पानी का भी इंतजाम किया गया था। कैंडीडेट्स को सेंटर तक पहुंचने में कोई दिक्कत न हो इसके लिए कैंपस के हर चौराहे पर सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया था। जो कैंडीडेट्स का उनके सेंटर्स तक पहुचंने का रास्ता बता रहे थे.

जमकर लगा जाम

एंट्रेंस टेस्ट देने के लिए हजारों की संख्या में स्टूडेंट्स बीएचयू पहुंचे। दोनों शिफ्ट का टेस्ट खत्म होने के बाद लंका पर खासी जाम की स्थिति पैदा हो गयी। हालांकि यातायात कर्मियों को जाम से निजात के लिए लगाया गया था पर इतनी बड़ी संख्या में लोगों के कैंपस के बाहर आने के चलते लंका पर जाम लग गया। यातायात कर्मियों ने कड़ी मशक्कत के बाद इलाकों को जाम से मुक्त कराया। वहीं रिक्शा और आटो वालों की खूब चांदी कटी। कैंडीडेट्स को उनके गंतव्य तक पहुंचाने में उन्होंने सामान्य दिनों से अधिक किराया वसूला। कैंपस के अंदर भी जाम लग गया था।

एंट्रेस टेस्ट एक नजर

बीएचयू में एडमिशन के लिए 5 लाख ने किया आवेदन

-पिछले साल से 45 हजार विद्यार्थियों की वृद्धि

- यूजी कोर्सेज के लिए 2,72,302 आवेदक

-पीजी कोर्सेज के लिए आवेदक 1,30,412