-यूपी की तर्ज पर पटना में बनेगा डायल 100 का नियंत्रण कक्ष

श्चड्डह्लठ्ठड्ड@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

क्कन्ञ्जहृन्: अब उत्तर प्रदेश की तर्ज पर बिहार में जल्द ही डायल-100 की सुविधा आम लोगों को मिलने वाली है. अब डायल 100 करने पर 20 मिनट में पुलिस मौके पर पहुंच जाएगी. पटना में डायल-100 नियंत्रण कक्ष की क्षमता विस्तार के लिए बिहार पुलिस अस्थाई संरचना का निर्माण करने वाली है. इसके लिए राज्य सरकार ने 1 करोड़, 6 लाख, 62 हजार रुपए राज्य पुलिस मुख्यालय को उपल?ध करा दिया है.

पोर्टा हट से होगी मॉनीटरिंग

पटना में बनने वाला डायल-100 नियंत्रण कक्ष फिलहाल अस्थाई होगा. इस कक्ष के लिए पोर्टा हट का निर्माण किया जाएगा. बता दें कि सचिवालय में इसी तरह के एक पोर्टा हट में शराबबंदी की मॉनीट¨रग के लिए भी नियंत्रण कक्ष कार्यरत है. 1.06 करोड़ की राशि से पार्टा हट में डायल-100 की बुनियादी संरचनाओं का भी निर्माण किया जाएगा.

राज्य के किसी भी कोने से कर सकेंगे कॉल

राज्य पुलिस मुख्यालय के सूत्रों ने बताया कि बिहार पुलिस का डायल-100 उत्तर प्रदेश पुलिस की तर्ज पर काम करेगा. राज्य के किसी भी स्थान से 100 डायल करने पर औसतन 20 मिनट के अंदर पुलिस टीम मौके पर पहुंच जाएगी.

ऐसे काम करेगा कंट्रोल रूम

पटना में एक राज्यस्तरीय नियंत्रण कक्ष की स्थापना की जा रही है. राज्य के किसी कोने से 100 नंबर डायल करने पर यह फोन सीधे पटना स्थित नियंत्रण कक्ष से संपर्क होगा. इस नियंत्रण कक्ष से जुड़े राज्यभर में पुलिस के करीब दो हजार पेट्रोलिंग वाहन गश्त पर रहेंगे. नियंत्रण कक्ष से संकेत मिलते ही सबसे निकटतम गश्ती वाहन को मौके के लिए रवाना कर दिया जाएगा. बता दें कि डायल-100 से जुड़े ये पेट्रोलिंग वाहन सभी तरह की अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होंगे. बिहार पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने राज्य में डायल-100 की सुविधा को कारगर बनाने के लिए देश के कई राज्यों का दौरा किया था. इनमें उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के डायल-100 को बिहार पुलिस ने सबसे बेहतर माना और उन्हीं की तर्ज पर बिहार में यह व्यवस्था करने का फैसला लिया गया.