क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : चिकनगुनिया के साथ-साथ डेंगू का डंक भी तेजी से फैल रहा है. गुरुवार को 27 संदिग्ध मरीजों में डेंगू से ग्रसित होने की पुष्टि हुई, जबकि एक मरीज चिकनगुनिया से ग्रसित मिला. डेंगू के नए मरीज सामने आने के बाद स्वास्थ्य महकमे में बेचैनी है. इस बीमारी की रोकथाम व मरीजों के इलाज को लेकर विभाग रेस हो चुका है. सदर हॉस्पिटल के सिविल सर्जन ने बीमारी संभावित जोन में डोर-टू-डोर सर्विलांस तेज करने का निर्देश संबंधित स्वास्थ्यकर्मियों को दिया है.

सेंट्रल टीम का भी सर्वे

सिटी में डेंगू व चिकनगुनिया के मरीजों की लगातार बढ़ रही संख्या को लेकर केंद्र सरकार को भी जानकारी दी गई. इसके बाद रांची आई सेंट्रल टीम ने भी सर्विलांस और सोर्स रिडक्शन अभियान के तहत कई घरों में जाकर जांच की थी. इस दौरान कई घरों में मच्छर का लार्वा मिला था जिसे तत्काल नष्ट किया गया था. इसके अलावा कंटेनरों को खाली कराकर पानी स्टोर नहीं करने की लोगों को सलाह दी गई.

कैंप में 93 की जांच, एक को चिकनगुनिया

हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से हरमू के नया टोला और आरसी मिशन हिंदपीढ़ी में कैंप लगाया गया. इस दौरान 93 लोगों का चेकअप किया गया. इसमें चिकनगुनिया का एक संदिग्ध मरीज मिला. उसके ब्लड सैंपल को टेस्ट के लिए भेज दिया गया है. इस दौरान घरों में लार्वा मिलने पर परवेज अख्तर और सुहानी खाका पर इंफोर्समेंट टीम की ओर से जुर्माना भी लगाया गया.