agra@inext.co.in
AGRA : शातिर अब स्नैचिंग से पहले आपके गले में पड़ी चेन की पहचान कराते हैं कि वह सोने की है या नहीं। इसके लिए वह रेकी के दौरान अपने साथ ज्वैलर्स भी रखते हैं। रविवार को पुलिस ने एक ऐसे ही गैंग के शातिरों को दबोचा है। गैंग का मास्टरमाइंड एक ज्वैलर्स बताया गया है, जो फरार है। पुलिस गैंग के फरार शातिरों की तलाश में जुटी है।

क्लिन चिट मिलने के बाद लूट

जगदीशपुरा थाना क्षेत्र में पकड़े गए शातिरों ने पुलिस को बताया कि वह वारदात को अंजाम देने से पहले स्कूटी से रेकी करते थे। रास्ते में कहीं कोई पुलिस की चेकिंग तो नहीं है, इसकी  जानकारी करते थे। चन्द्रकांत का कहना था कि गैंग के मास्टरमाइंड मूलचंद की जगदीशपुरा क्षेत्र के सुमन नगर में ज्वैलरी शॉप है। वारदात के दौरान मूलचंद वारदात को अंजाम देने से पहले सोने के अभूषणों को देखकर क्लिन चिट देता था, इधर इशारा मिलते ही चन्द्रकांत और उसके साथी बाइक से चेन स्नैचिंग की वारदात को अंजाम देते थे।

40 दिन पहले जेल से हुआ रिहा

पुलिस ने ईट मंडी के पास रविवार को चन्द्रकांत और दिलीप को गिरफ्तार कर लिया। जबकि उसके साथी मूलचंद और रवि पुत्र ओमप्रकाश, विनय पुत्र भूरी सिंह, लोकेश पुत्र विष्णु कुमार मौके से भाग निकले। पुलिस का कहना है कि अभियुक्त चन्द्रकांत पर करीब 15 मुकदमे चल रहे हैं। वह 40 दिन पहले जेल से जमानत पर रिहा किया गया है।

दो दिन पूर्व महिला से वारदात

अभियुक्त चन्द्रकांत ने दो दिन पहले जगदीशपुरा थाना क्षेत्र में एक महिला से लूट की वारदात को उस समय अंजाम दिया, जब वह अपने पांच वर्षीय बेटे के साथ स्कूल से घर लौट रही थी। यह पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई। इस मामले की शिकायत पुलिस से की गई थी। पुलिस हिरासत में चन्द्रकांत ने बताया कि वह मुकदमों में पैरवी के लिए लूट कर रहा है। पुलिस पकड़े गए शातिरों की निशानदेही पर फरार लुटेरों की तलाश में जुटी है।

टीम में ये रहे शामिल
पकडऩे वाली टीम में जगदीशपुरा थाना प्रभारी निरीक्षक प्रवेश कुमार, उपनिरीक्षक हेमन्द्र सिंह, मोहित सिंह, सुधीर राठी, ललितेन्द्र, सोनू कुमार शामिल रहे।

ये पकड़े गए
* चन्द्रकांत पुत्र घनश्याम निवासी देहतोरा
* दिलीप पुत्र नारायण पातीराम बिचपुरी

लुटेरों से बरामद माल
* दो चेन
* 30 हजार कैश
* एक तमंचा

Crime News inextlive from Crime News Desk