-चार वर्ष से फाइलों में ही अटकी है पटना में प्याऊ की योजना

PATNA: भीषण गर्मी में घर से निकल रहे हैं तो अपने लिए पानी की व्यवस्था करके निकलें। पिछले चार वर्ष से नगर निगम की पटना की सड़कों पर प्याऊ लगाने की योजना बस फाइलों में ही दबी है। साल दर साल बीतते जा रहे हैं, अधिकारी बदलते जा रहे हैं, वादे किए जाते हैं लेकिन काम वहीं का वहीं रह जा रहा है। प्याऊ की योजना एक टेबल से दूसरे टेबल तक जाती है और राहगीर प्यासे भटकते हैं।

अभी तक कोई अमल नहीं

गर्मी का पारा भले चढ़ रहा है लेकिन लोगों की प्यास बुझाने के लिए नगर निगम कोई कदम इस साल भी अभी तक नहीं उठाया है। कर्मियों का कहना है कि अधिकारी बदलने के कारण योजना पर काम नहीं हो पाया है। नये योजना के तौर पर मतदान के दौरान बूथ पर प्याऊ की व्यवस्था रहेगी।

2015 से फाइलों में हो रहा काम

बता दें कि 2015 में ही शहर के 25 जगहों पर प्याऊ लगाने की योजना बनी थी। जिसमें डाकबंगला चौैराहा, बेली रोड, बोरिंग रोड सहित मेन सड़कों पर बारी-बारी से प्याऊ लगाना था। हर साल गर्मी शुरू होते ही ये योजना याद आने लगती है और गर्मी खत्म होते ही ठंडे बस्ते में दब जाती है। लेकिन इस साल नगर निगम की लापरवाही का आलम ये है कि अब तक इस योजना पर कोई कार्य शुरू नहीं हुआ है। किसी भी अधिकारी को इस संबंध में कोई निर्देश नहीं दिया गया है।

हमें प्याऊ से संबंधित कोई भी प्रस्ताव अभी तक नहीं मिला है। अगर ऐसा कुछ आएगा तो उस पर काम किया जाएगा।

-सतीश कुमार मिश्रा, कार्यपालक पदाधिकारी, जलापूर्ति विभाग, नगर निगम