छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: महात्मा गांधी मेमोरियल(एमजीएम) मेडिकल कॉलेज अस्पताल में शनिवार को पूरे दिन हो हल्ला में ही कटा. आउटसोर्सिग कर्मचारियों ने सीएमएस कार्यालय के बाहर नारेबाजी करते हुए बोनस और पीएफ देने की मांग की. मामले को बढ़ता देख पुलिस को बुलाना पड़ा जिसके बाद आश्वासन के बाद कर्मचारियों ने रास्ता छोड़ा.

बता दे कि एमजीएम अस्पताल में कार्यरत आउटसोर्स कर्मचारियों ने पहले से ही अधीक्षक का घेराव करने की घोषणा की थी. शनिवार को पहले कर्मचारी अधीक्षक चैंबर के पास पहुंचे और बाहर बैठ गए. कर्मचारियों के बाहर बैठे होने के चलते सीएमएस डा. एसएन झा दोपहर में लांच करने घर भी नहीं जा सके. जिसके बाद अस्पताल प्रशासन ने साकची थाने को सूचित किया मौके पर पहुंची पुलिस ने कर्मचारियों को समझाया जिसके बाद कर्मचारी प्रशासनिक भवन के पास आकर बैठ गए. शाम को अधीक्षक के कार्यालय के बाहर निकलने पर कर्मचारी कार के आगे बैठ गए. जिसको देखते हुए दोबारा पुलिस बुलानी पड़ी. कर्मचारियों द्वारा इस बाबत पूछे जाने पर अधीक्षक द्वारा संतुष्ट जवाब न मिलने से गुस्साए कर्मियों ने हड़ताल पर जाने का घोषणा कर दी. पुलिस ने मशक्कत कर सीएमएस को भीड़ से निकालकर घर पहुंचाया. अस्पताल में करीब 350 आउटसोर्स कर्मचारी तैनात है. इसमें नर्स, ड्रेसर, टेक्नीशियन, वार्ड ब्यॉय सहित अन्य शामिल है.