श्चड्डह्लठ्ठड्ड.द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

क्कन्ञ्जहृन्: किसानों के विकास के लिए राज्य सरकार समेकित कृषि प्रणाली मॉडल तैयार करेगी. इसके लिए राज्य के 20 कृषि विज्ञान केंद्रों का चयन किया जाएगा, जिसमें भूमि के प्रकार के हिसाब से समेकित कृषि के अलग-अलग मॉडल बनाए जाएंगे. कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा कि इसके लिए बिहार कृषि विश्वविद्यालय को चार करोड़ 93 लाख रुपये सहायक अनुदान की स्वीकृति दी गई है.

मछली पालन में लाभ

कृषि मंत्री ने कहा कि किसानों की आय बढ़ाने और पोषण सुरक्षा के लिए कृषि विज्ञान केंद्रों में जलवायु की विविधता के मुताबिक नीची भूमि, मध्यम और उच्च भूमि के लिए तीन अलग-अलग प्रकार की समेकित कृषि प्रणाली का प्रदर्शन किया जाएगा. नीची भूमि में मछली एवं बत्तख पालन को विकसित किया जाएगा. मध्यम एवं उच्च भूमि में खाद्यान्न के साथ-साथ डेयरी, बकरीपालन एवं वर्मी कंपोस्ट को बढ़ावा दिया जाएगा. साथ ही इस राशि से कृषि वैज्ञानिक किसानों के द्वार कार्यक्रम का भी आयोजन करेंगे, जिसकी संख्या 1040 होगी. प्रत्येक कार्यक्रम के आयोजन में 10-10 हजार रुपये व्यय किए जाएंगे.