अहमदाबाद के आर्किटेक्ट मनीष दोषी और मालिनी ने तैयार कराया स्वामी अवधेशानंद जी का शिविर

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: आपने मध्य प्रदेश के खरगौन जिले में नर्मदा नदी के तट पर स्थित माहेश्वर धाम का नजारा नहीं देखा है तो संगम की रेती पर उसका विहंगम दृश्य दिखाई दे रहा है. महेश्वर धाम की तर्ज पर सेक्टर पंद्रह में प्रभु प्रेमी संघ शिविर में धाम बसाया गया है. इसका डिजाइन गुजरात प्रांत के अहमदाबाद जिले के मशहूर आर्किटेक्ट मनीष दोषी व मालिनी ने तैयार कराया है. शिविर में जूना अखाड़े के आचार्य पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद जी महाराज कुंभ मेला की अवधि में कल्पवास कर सनातन संस्कृति को मजबूत करने का कार्य कर रहे हैं.

यह है खासियत

-आर्किटेक्ट मनीष दोषी और मालिनी ने एक महीने में डिजाइन के आधार पर शिविर में माहेश्वर धाम की तर्ज पर बनाया है. इसमें एक दत्त सदन बनाया गया है. वहां स्वामी अवधेशानंद जी महाराज निवास करते हैं.

-मुम्बई में स्थित प्रख्यात सिद्धि विनायक मंदिर और राजस्थान के प्रख्यात सालासार हनुमान मंदिर की तर्ज पर मंदिर का निर्माण किया गया है. साथ ही मंदिर परिसर में यज्ञशाला बनाई गई है.

-शिविर में बीस बेड का हॉस्पिटल भी बनवाया गया है. वहां विशेषज्ञ डॉक्टरों द्वारा नि:शुल्क चिकित्सकीय सुविधा मेला की अवधि में श्रद्धालुओं को दी जाएगी.

बॉक्स

श्रद्धा का जीवंत रूप है कुंभ : स्वामी अवधेशानंद जी महाराज

प्रयागराज में आयोजित कुंभ मेला श्रद्धा का जीवंत रूप नजर आ रहा है. यहां भिन्न-भिन्न मत और संप्रदाय के आचार्य व उपासक आए हैं. यही अपनी सनातन संस्कृति की विशेषता है. यह बातें रविवार को शिविर में आयोजित पत्रकार वार्ता में स्वामी अवधेशानंद जी महाराज ने पत्रकारों से कही. उन्होंने कहा कि हमारी सनातन संस्कृति एकत्व में विश्वास रखती है. इसीलिए गंगा, यमुना व अदृश्य सरस्वती के त्रिवेणी तट पर हम अपने कल्याण की कामना को लेकर पहुंचे हैं.