वायु सेना ने बेगम बाजार भगवतपुर रोड पर निर्माणाधीन रेल ओवरब्रिज निर्माण रोका

सेना की ओर से लोकल प्रशासन के साथ ही उत्तर प्रदेश सेतु कारपोरेशन को भेजा गया पत्र

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: कुंभ 2019 को लेकर एक तरफ केंद्र व राज्य सरकारें जमीन आसमान एक किए हुए हैं. संगम नगरी में इस समय विकास कार्यो की बाढ़ आई हुई है. इसी क्रम में देश के प्रमुख शहरों को जोड़ने के लिए कई उड़ानें शुरू हो गई हैं तो कई पाइपलाइन में हैं. इसी के तहत कुछ कंपनियां यहां से मालवाहक जहाज उड़ाने की तैयारी में भी जुटी हैं, लेकिन उनकी उम्मीदों पर सिर्फ एक पुल पानी फेर सकता है जो बेगम बाजार-भगवतपुर रोड पर बन रहा है. हालांकि समय से पहले ही वायु सेना ने इस परिस्थिति को समझ लिया है और पुल का निर्माण रोकने के लिए लोकल प्रशासन के साथ ही उत्तर प्रदेश सेतु कारपोरेशन को पत्र लिख कर पुल का निर्माण तत्काल रोकने को कहा है.

यात्रियों की जान के लिए खतरा

सेना की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि इस पुल का निर्माण कर हवाई अड्डे के लिए निर्धारित आपत्ति मानकों का उल्लंघन किया जा रहा है. सेना की आपत्ति है कि इस पुल की वजह से हवाई अड्डे की उपयोगी लंबाई कम हो जाएगी. इसके साथ ही अधिकांश लड़ाकू विमान यहां की हवाई पट्टी का उपयोग नहीं कर पाएंगे. यह पुल सीधे तौर विमान उड़ान मार्ग पर बन रहा है और बमरौली हवाई अड्डे से इसकी दूरी महज 500 मीटर है. इसकी ऊंचाई से विमानों के उड़ान भरने व उतरने में बाधा उत्पन्न होगी.

नहीं ली गई एनओसी

सेना का कहना है कि भारतीय गजट जीएसआर 751 व भारतीय विमान अधिनियम 1934 के अनुसार हवाई अड्डे के आसपास कोई भी कार्य आरंभ करने से पहले भारतीय वायु सेना या भारतीय विमान पत्तन प्राधिकरण से एनओसी लेना जरूरी होता है. लेकिन भगवतपुर रेलवे पुल निर्माण से पहले इस नियम का पालन नहीं किया गया. यही नहीं वायु सेना की आपत्ति के बावजूद निर्माण नहीं रोका गया.

दूसरी बार की आपत्ति

सेना के अनुसार नागरिकों व उड्डयन नियमों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए वायु सेना ने एक बार फिर उप्र सेतु कारपोरेशन लिमिटेड व भारतीय रेल व सिविल प्रशासन से पुल निर्माण को तत्काल रोकने की मांग की है.