कॉलेजों को सर्कुलर जारी, परीक्षा शुल्क जमा करें तभी मिलेगी एनओसी

नए कोर्स के लिए भी अप्लाई करने से पहले करें नियम पूरे

MEERUT - एकेटीयू ने अब विभिन्न तरह के बकाये को लेकर सख्ती शुरु कर दी है। ऐसे में नाराज एकेटीयू ने प्रदेशभर के सभी कॉलेजों को एक सर्कुलर जारी किया है। जिसमें परीक्षा शुल्क सहित अन्य बकाया जमा नहीं करने वाले कॉलेजों को अनापत्ति प्रमाणपत्र देने से मना कर दिया है। वहीं, जिन कॉलेजों में मैनेजमेंट विवाद होगा, उनकी एनओसी पर भी जांच पड़ताल के बाद ही विचार किया जाएगा।

नए कोर्स की नहीं मिलेगी एनओसी

यूनिवर्सिटी ने विभिन्न बकाया शुल्क को लेकर निर्देश जारी कर दिए हैं। यूनिवर्सिटी के एफिलिएशन पोर्टल पर प्रदेशभर से 218 एवं मेरठ से 28 कॉलेजों ने नए कोर्स की एनओसी लेने के लिए आवेदन किया है। इनमें सबसे ज्यादा 208 आवेदन बीफार्मा के ही है। वहीं दस आवेदन एमबीए सहित अन्य कोर्स के लिए आए हैं।

पहले प्रजेंटेशन जरुरी

जिन कॉलेजों ने अप्लाई किया है उनको पहले नए कोर्स के लिए कॉलेजों को मान्यता देने के लिए पहले उन्हें प्रजेंटेशन देने के लिए बुलाया गया है। उनकी प्रजेंटेशन देखने के बाद उनके बकाया भी चेक किए जाएंगे। विवि के प्रोवीसी के डॉ। आरके सिंह ने अपने सर्कुलर में साफ लिखा है कि उन कॉलेजों को एनओसी नही दी जाएगी, जिन्होंने परीक्षा शुल्क जमा नही किए हैं।

हमारे कॉलेज में कोई बकाया नहीं है, ये उन कॉलेजों के लिए हैं जिनका बकाया है। नए कोर्स के लिए भी हमारे कॉलेज में कोई अप्लाई नही किया गया है।

एसके सिंह, रजिस्ट्रार, एमआईईटी, मेरठ

कॉलेज में बकाया नही है, बाकी जानकारी ली जाएगी, अगर ऐसा कुछ होगा तो उसको जमा कराया जाएगा। इसके अलावा हमारे यहां कोई नया कोर्स अप्लाई नहीं किया गया है।

आदेश गहलौत, रजिस्ट्रार, बीआईटी कॉलेज मेरठ