क्‍या रहा कुक का जवाब
वन डे की कप्‍तानी न छोड़ने को लेकर जब कुक से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इस समय नहीं छोड़ेंगे. उन्होंने कहा कि अगर उन्‍हें अभी रहने दिया गया तो वह वर्ल्ड कप में इसी टीम के कप्तान रहेंगे. चयन के मामले में उनकी कोई दखलअंदाजी नहीं है, लेकिन उन्‍होंने इस लक्ष्य के साथ साढ़े तीन साल तक कप्तानी की है कि वह ऑस्ट्रेलिया में वर्ल्ड कप जीतने की कोशिश करेंगे.

कहा, सचमुच अच्‍छे खिलाड़ी हैं उनके पास  

कुक ने कहा कि वह जानते हैं कि जब वह मैच गंवा रहे हैं तो यह इस समय दूर की बात लगती है, लेकिन उनके पास सचमुच काफी अच्छे खिलाड़ी हैं. अगर वह  उस गति से सुधार करें, जिस रफ्तार से उन्‍हें सुधार करना चाहिए तो उनके पास मौका है और उन्‍हें इसी पर विश्वास करना होगा. उन्होंने कहा कि नौ विकेट से हारना निराशाजनक प्रदर्शन था. वह बहुत तेजी से मैच में पिछड़ गए और वापसी नहीं कर सके.

बतौर कप्‍तान क्‍या है सबसे ज्‍यादा कठिन
कुक ने कहा कि जब आप सीरीज में पिछड़ रहे हों और वापसी करने की कोशिश करते हों, विशेषकर वनडे में, तो ऐसा तेजी से होता है. यह बतौर कप्तान सबसे कठिन और हताशाजनक चीज है. आप जानते हों कि आपको क्रीज पर जाकर खेलना है, लेकिन जब आप लगातार विकेट गंवाते रहते हों तो यह बहुत मुश्किल हो जाता है. इंग्लिश कप्तान ने इस बात से इनकार किया कि टीम चयन या गलत रणनीति इन हार का सही कारण है. बल्कि उन्होंने इसका कारण अपने खिलाड़ियों का प्रदर्शन नहीं कर पाना बताया. कुक ने कहा कि वह अपने सर्वश्रेष्ठ अंतिम एकादश नहीं जानते हैं, क्योंकि परिणाम दिखा रहा हैं कि वह प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं. इसलिये तब ऐसा होता है तो आप हमेशा संशय करना शुरू कर देते हो और वह अभी इसी हालत में हैं. उनके पास कोशिश करने और चीजें सही करने के लिए वनडे में छह महीने हैं. उन्होंने कहा कि उन्‍हें नहीं लगता कि रणनीति को बदलने की जरूरत है. उन्‍हें सिर्फ लगता है कि उन्‍हें बेहतर करने की आवश्यकता है.

Cricket News inextlive from Cricket News Desk