कानपुर। अरब सागर में लो प्रेशर की वजह से उससे सटे दक्षिण प्रायद्विपीय भारत का बुरा हाल है। केरल के तटीय इलाकों में इन दिनाें आंधी चल रही है। वहीं अरब सागर का डीप डिप्रेशन दक्षिणपूर्व से गुजरते हुए पश्चिम की तरफ बढ़ रहा है।  माैसम विभाग की मानें तो यहां डीप डिप्रेशन की वजह से तूफान बन सकता है और यह अगले 12 घंटों के दौरान लक्षद्वीप व उससे आसपास के इलाकाें को अपनी चपेट में ले सकता है। इस दौरान यहां कुछ इलाकों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश होने की संभावना है।

असम और आस-पास के इलाकों में एक चक्रवाती हवाएं चल रही
वहीं माैसम वैज्ञानिकों के पूर्वानुमान के मुताबिक आज भी तमिलनाडु, केरल, दक्षिण कर्नाटक, आंध्र प्रदेश में बारिश होने की अाशंका है।  इसके अलावा मलय प्रायद्वीप और आस-पास के हिंद महासागर पर बना चक्रवात गाजा अब अंडमान सागर को चपेट में ले चुका है। इसकी वजह से असम और आस-पास के इलाकों में एक चक्रवाती हवाएं चल रही हैं। वहीं अगले 24 घंटों के दौरान बंगाल की खाड़ी के दक्षिण को यह पूरी तरह से अपने चपेट में ले सकता है। यहां हवाएं काफी तेज चलने की आशंका हैं।

वेस्टर्न डिस्टर्बेंस की वजह यहां हालात थोड़े मुश्किल भरे हाे सकते
वहीं इन दिनों एक वेस्टर्न डिस्टर्बेंस उत्तरी पाकिस्तान और हिमालय के पश्चिम में है। मौसम विभाग के मुताबिक वेस्टर्न डिस्टर्बेंस की वजह से जम्मू-कश्मीर और आसपास हालात थोड़े मुश्किल भरे होंगे। यहां बर्फबारी और बारिश से हालात गंभीर हो सकते हैं। इसका असार हिमालय से सटे मैदानी इलाकों में देखने को मिलेगा। वहीं पूर्वोत्तर के असम, मेघालय, अरूणाचल प्रदेश, नागालैंड, मिजोरम और त्रिपुरा में घना कोहरा छाया रहेगा। वहीं वेस्ट बंगाल और ओडिशा में भी अगले दो दिन ऐसे हालात रहेंगे।

National News inextlive from India News Desk