- इविवि छात्रसंघ भवन पर अनशन के चौथे दिन तैयार होती रही रणनीति

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: विश्वविद्यालय बचाओ संयुक्त संघर्ष समिति की अगुवाई में चौथे दिन भी क्रमिक अनशन छात्रसंघ भवन पर जारी रही. इस दौरान छात्रों ने विश्वविद्यालय बचाओ पदयात्रा को सफल बनाने के लिए रणनीति तय की. वहीं सभी छात्र संगठनों के लोग छात्रसंघ भवन पर एकत्रित होकर हॉस्टल मामले में गठित जांच कमेटी के प्रमुख प्रो. जगदम्बा सिंह से मिलने उनके ऑफिस गए. लेकिन प्रो. जगदम्बा का मोबाइल ऑफ होने के कारण छात्र वापस लौट आए.

भ्रष्टाचार पर जमकर कसा तंज

छात्रों के दल ने कमेटी के दूसरे मेम्बर्स से भी मुलाकात करने की कोशिश की. लेकिन उनका मोबाइल भी ऑफ रहा. वहां से वापस आने के बाद एक बैठक छात्रसंघ भवन पर की हुई. इसमें पदयात्रा के संदर्भ में चर्चा की गई. कहा गया कि विवि प्रशासन के रवैए से आम छात्रों में अत्यंत रोष है. छात्र अपने जेल गए छात्रसंघ पदाधिकारियों समेत अन्य छात्रों की रिहाई न होने के कारण उग्र होने की स्थिति में हैं. छात्रों ने कहा कि पूरा विवि भ्रष्टाचार का अड्डा बन चुका है. टीचर्स से जुड़े अयोग्य लोगों को भर्तियों में भ्रष्टाचार के दम पर भरा जा रहा है. कुछ स्वार्थी तथा भ्रष्ट लोग विवि का भविष्य खराब कर रहे है. अनशन में समाजवादी छात्रसभा के जिलाध्यक्ष अखिलेश गुप्ता, आनंद सिंह निक्कू, सूर्य प्रकाश मिश्रा, अभिषेक यादव, आइसा से सुनील मौर्या, शाहनवाज, आशीष यादव आदि शामिल रहे.

पूरब का आक्सफोर्ड बना क्षेत्रीय विवि

उधर, इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के मौजूदा हालातों और उसके गौरवशाली इतिहास के मद्देनजर एक प्रेस वार्ता का आयोजन प्रेस क्लब में किया गया. जिसमें इविवि रसायन विज्ञान विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रो. भरत सिंह, राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान के पूर्व जनरल मैनेजेर डॉ. अरूण कुमार सिंह, इलाहाबाद डिग्री कॉलेज वाणिज्य विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष वीएन राय, डॉ. शशांक शेखर राय, रिटायर्ड डीवाईएसपी पीएन ओझा ने अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि पूरब का आक्सफोर्ड आज क्षेत्रीय विश्वविद्यालय बनकर रह गया है.

कुलपति संवेदनशील, कर्मठ एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के विद्वान

पत्रकार वार्ता में शामिल वक्ताओं ने कहा कि विवि कुलपति प्रो. आरएल हांगलू एक संवेदनशील, कर्मठ एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के विद्वान हैं. जिन्होंने अपनी प्रशासनिक क्षमता का परिचय देते हुए परिवर्तन की बयार को हवा देने का काम किया है. कहा कि कुलपति का मिशन ज्ञान का प्रसार और विवि का अभ्युदय है. ऐसे व्यक्ति को अधर्म से पे्ररित महारथियों द्वारा शहीद होने के लिए विवश किया जा रहा है. इस दौरान वार्ता में शामिल मीडियाकर्मियों ने शिक्षक भर्ती में नातेदार-रिश्तेदारों को भरे जाने, हास्टल्स में भारी आभाव के बीच रह रहे छात्रों की समस्याओं, आए दिन कैम्पस में होने वाली अराजकता और शिक्षकों की राजनीति से जुड़े गंभीर सवाल किए.