कुलानुशासक मंडल, अधिष्ठाता छात्र कल्याण मंडल के सदस्यों एवं विवि के छात्रावास अधीक्षकों की आकस्मिक बैठक

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में शनिवार को कुलानुशासक मंडल, अधिष्ठाता छात्र कल्याण मंडल के सदस्यों एवं विवि के छात्रावास अधीक्षकों की आकस्मिक बैठक कुलानुशासक कार्यालय में हुई. बैठक में शुक्रवार को विश्वविद्यालय पुलिस चौकी प्रभारी और वहीं तैनात पुलिसकर्मी पर अराजक तत्वों द्वारा किए गए हमले की कटु निन्दा की गई तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से इसकी जांच करके दोषियों को चिन्हित करने और उनके विरुद्ध संगत धाराओं में अपराध दर्ज करने का आग्रह किया गया.

200 के खिलाफ दर्ज है मुकदमा

बैठक में यह भी प्रस्ताव किया गया कि चिन्हित और हमले में भागीदारी करने वाला व्यक्ति यदि विवि का छात्र है तो उसका विवि से निष्कासन किया जा सकता है. कहा गया कि यह सर्वविदित है कि विधि एवं कानून व्यवस्था ठीक करना और विवि प्रशासन की सहायता एवं अराजकता का नियंत्रण करना यूपी पुलिस/प्रशासन का प्रमुख कर्तव्य है. बता दें कि शुक्रवार को कैम्पस में हुई घटना के बाद सिपाही पर जानलेवा हमले के आरोपी छात्रसंघ पदाधिकारियों समेत 14 पर नामजद तथा 200 अज्ञात के खिलाफ अति गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था.

16 जनवरी तक खाली कर दें कमरा

कुलानुशासक, अधिष्ठाता छात्र कल्याण और विश्वविद्यालय छात्रावासों के अधीक्षकों की इस बैठक में पारित प्रस्ताव के द्वारा पुलिसविहीन और आदर्श परिसर बनाने में छात्रों से सहयोग किए जाने का अनुरोध किया गया. इसके अलावा यह भी कहा गया है कि सभी छात्रावास से वे लोग जिनकी निवास अवधि समाप्त हो गई है अथवा जो लोग अवैध कब्जा करके रहते हैं. उन्हें 16 जनवरी की शाम 05 बजे तक कक्ष खाली करके उसकी चाभी छात्रावास के अधीक्षक को सौंप दें. यह भी कहा गया है कि पुलिस विहीन इस कार्रवाई में छात्रसंघ के पदाधिकारियों से सक्रिय सहयोग की अपेक्षा की गई है.

नहीं करा सके तो होगी एफआईआर

आग्रह किया गया है कि पदाधिकारीगण स्वयं छात्रावासों में जाकर इस आशय का वातावरण तैयार करें कि अवैध एवं अराजक तत्वों को परिसर से बाहर जाने के लिए विवश होना पड़े. कहा गया है कि यदि उक्त तिथि तक छात्रसंघ के पदाधिकारियों के सफल न होने पर छात्रावासों में अवैध कक्षों पर कब्जाधारियों के विरुद्ध विधिक कार्रवाई हेतु थाना कर्नलगंज में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराने की संस्तुति कर दी जाएगी.

छात्रसंघ के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महामंत्री तथा सामान्य छात्रों का विवि में अनुशासन व्यवस्था ठीक रखने में मदद करना, छात्रावासों से अपराधियों को हटाना और नियमित छात्रों के रहने की शान्तिपूर्ण व्यवस्था करने में पूर्ण सक्रिय सहयोग करना परम कर्तव्य है. हम इस पर काम कर रहे हैं.

प्रो. आरएस दुबे,

चीफ प्रॉक्टर

बैठक में विश्वविद्यालय छात्रावास के अधीक्षक, कुलानुशासक मंडल के सदस्य और अधिष्ठाता छात्र कल्याण एवं सदस्यगण उपस्थित हुए और छात्रावास की वर्तमान परिस्थितियों तथा उससे मुक्ति पाने के विषय में विचार-विमर्श किया गया.

प्रो. हर्ष कुमार,

डीएसडब्ल्यू