नगर निगम, एडीए और गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई ने इलाके की कर दी है ऐसी-तैसी

पम्पिंग स्टेशन तक जाने वाला मुख्य नाला है ध्वस्त, अन्यों की स्थिति भी है काफी खराब

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: बरसात के मौसम में वाटर लॉगिंग की बात आती है तो सबसे पहले अल्लापुर का नाम आता है. इस बार भी तैयारी कुछ ऐसी ही है कि बारिश होते ही ये इलाका डूब जाएगा और फिर शुरू होगा विभागों का पानी निकालने को लेकर तामझाम. इस बार तो स्थिति और खराब है क्योंकि नगर निगम, एडीए और गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई ने डेढ़ से दो लाख की आबादी वाले इस इलाके की ऐसी-तैसी कर रखी है.

ध्वस्त है इलाके का मुख्य नाला

एलआईसी कॉलोनी, जार्ज टाउन, बाघम्बरी गद्दी होते हुए पूरे अल्लापुर व आस-पास के इलाकों से होकर पम्पिंग स्टेशन तक पहुंचने वाले मुख्य नाले को गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई ने पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया है. इकाई ने पुलिया व नाला को तोड़ कर पानी का बहाव पूरी तरह रोक दिया है. नाले का निर्माण नगर निगम की ओर से कराया गया था, जिससे जार्ज टाउन, टैगोर टाउन, एलआईसी कॉलोनी, बाघम्बरी हाउसिंग स्कीम, मटियारा रोड निकलता था.

खुदे हैं रास्ते, मिट्टी से पटे नाले

अल्लापुर, बाघम्बरी हाउसिंग स्कीम और पूरा पड़ाईन के करीब दो दर्जन से अधिक रास्ते, गलियां व संपर्क मार्ग गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई द्वारा खोदने के बाद मिट्टी डाल कर छोड़ दिए गए हैं. रोड के अगल-बगल जो नालियां थीं, उन्हें मिट्टी से पाट दिया गया है.

अल्लापुर में हैं तीन वार्ड

अल्लापुर कहने को तो एक इलाका है, लेकिन इस इलाके में एक-दो नहीं बल्कि तीन वार्ड शामिल हैं. भारद्वाजपुरम, पूरा पड़ाईन और बाघम्बरी हाउसिंग स्कीम. इन तीनों वार्ड में करीब डेढ़ से दो लाख की आबादी रहती है, जो हर साल भीषण जलभराव झेलती है.

नाले पर अतिक्रमण खूब है

अल्लापुर में बाघम्बरी रोड का नाला अलोपीबाग-दारागंज रोड से होकर बख्शी बांध पम्पिंग स्टेशन में जाकर मिलता है. करीब डेढ़-दो किलोमीटर लंबे इस नाला पर रेलवे डॉट पुल से अतिक्रमण किया गया है. पोस्ट ऑफिस के थोड़ा आगे तक कुछ स्थानों पर बीच में नाला खुला है, थोड़ा आगे बढ़ने पर नाले पर दुकान और मकान बन जाने से इसकी सफाई नहीं हो सकती है. रेलवे डॉट पुल से लेकर लेबर चौराहा तक नाला दुकानदारों के कब्जे में है.

गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई ने पूरे इलाके को ध्वस्त कर रखा है. बरसात का पानी पम्पिंग स्टेशन तक नहीं पहुंच पाएगा. नगर निगम द्वारा नाला सफाई में लापरवाही बरती जा रही है.

शिवांगी मिश्रा

पार्षद, पूरा पड़ाईन

अल्लापुर की स्थिति बद से बद्तर हो गई है. गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई और एडीए ने नालों को पाट दिया है. अभी भी समय है, जलनिकासी का रास्ता नहीं बना तो इलाका डूबेगा.

विनय मिश्रा

पूर्व पार्षद

भारद्वाजपुरम एरिया भी हर साल डूबता है. इस बार भी डूबेगा. आवाज उठाने और विरोध के बाद भी स्थिति अभी तक नहीं सुधरी है. नालों की सफाई ठीक से नहीं हुई.

शिवसेवक सिंह

पूर्व पार्षद

भारद्वाजपुरम