रास्ता अभी भी यात्रियों के लिए असुरक्षित
जम्मू (आईएएनएस)। हाल के दिनों में खराब मौसम की वजह से रोकी गर्इ अमरनाथ यात्रा कल शुक्रवार को पहलगाम से फिर शुरू हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि आज सुबह  2,203 तीर्थयात्रियों का जत्था आज शनिवार को घाटी के लिए रवाना हुआ। हालांकि इस दौरान प्रशासन ने बालटाल मार्ग से की जाने वाली यात्रा के लिए असुरक्षित बताते हुए फिलहाल के लिए इसे रोक रखा है।अधिकारियों का कहना है कि भूस्खलन होने की वजह से यह रास्ता अभी भी यात्रियों के लिए असुरक्षित है। श्रद्धालुआें लिए यातायात के उचित इंतजाम किए गए हैं। बालटाल से पहलगाम के लिए निशुल्क परिवहन की सुविधा दी जा रही है।

भूस्खलन को साफ करने का अभियान तेज
बता दें कि कल जम्मू एवं कश्मीर के एक अधिकारी ने बताया था कि बीते तीन दिनों की अपेक्षा शुक्रवार से मौसम में थोड़ सुधार हुआ है। एेस में तीर्थयात्रियों को पहलगाम बेस कैंप से आगे जाने की अनुमति दे दी गई है। हालांकि, बालटाल से किसी को आगे बढ़ने की अनुमति नहीं दी गई। इस मार्ग पर भूस्खलन को साफ करने का अभियान काफी तेजी से चल रहा है। बतादें कि बीते मंगलवार को भूस्खलन से चार तीर्थयात्रियों व एक स्थानीय नागरिक की मौत हो गई थी। इसके अलावा करीब 10 अन्य लोग भी घायल हो गए थे। इसके बाद ही यात्रा रोक दी गर्इ थी। बता दें कि 28 जून से शुरू हुई तीर्थयात्रा में 68,000 श्रद्धालु यात्रा कर चुके हैं।

अमरनाथ यात्रा : भूस्खलन से पांच की मौत सात घायल, खराब मौसम की वजह से रोके गए श्रद्धालु

अमरनाथ यात्रा: खत्म नहीं होगा देह के प्रति अभिमान, तो नहीं कर पाएंगे अमरता की यह यात्रा

National News inextlive from India News Desk