features@inext.co.in   
KANPUR: एक रीसेंट इंटरैक्शन के दौरान अमायरा दस्तूर ने कहा कि वह भी बॉलीवुड में हैरेसमेंट का शिकार हो चुकी हैं लेकिन उनमें इतनी हिम्मत नहीं कि वो उन लोगों का नाम ले सकें जिन्होंने उन्हें हैरेस किया। इतना ही नहीं, अमायरा की सबसे हैरान करने वाली बात ये है उन्हें न सिर्फ पुरुष बल्कि महिलाओं ने भी हैरेस किया। 
फिल्म इसक से किया था डेŽब्यू 
अमायरा ने अपना एक्टिंग डेŽब्यू 2013 में फिल्म इसक से किया था। इसके बाद वह मिस्टर एक्स, कलाकांडी और कुंग फू योगा जैसी फिल्मों में भी नजर आईं। बॉलीवुड के अलावा अमायरा कुछ तमिल और तेलुगू फिल्मों का भी हिस्सा रह चुकी हैं। करियर में जहां अमायरा अभी धीरे-धीरे आगे बढ़ रही हैं, वहीं अभी तक की उनकी जर्नी रही है उसमें उन्हें भी हैरेसमेंट का सामना करना पड़ा है। 
एक इंसिडेंट को याद करते हुए उन्होंने कहा, 'एक बार एक गाने की शूटिंग के दौरान फिल्म का एक्टर मेरे बिल्कुल करीब आ गया और मेरे कानों में बोला कि उसे बहुत खुशी है कि मैं उसके साथ फिल्म में काम कर रही हूं। जब मैंने उससे दोबारा बात करने से मना कर दिया तो उसने वहां मेरे लिए सिचुएशन बहुत खराब कर दी। जब मैंने ये बात अपने डायरेक्टर को बताई तो उसने मुझे चुप रहने की सलाह दी। मुझे सेट पर जल्दी बुला लिया जाता था और मुझे घंटों इंतजार करवाया जाता था। मुझसे 18 घंटों तक काम करवाया गया है।'' अमायरा ने ये भी बताया कि इस पूरे इंसिडेंट का अंजाम ये हुआ कि प्रोड्यूसर से उन्हें ही उस एक्टर से माफी मांगने के लिए मजबूर कर दिया।  
जब हो गई थीं हेल्पलेस
एक न्यूज एजेंसी के साथ बात करते हुए अमायरा ने बताया, 'सच कहूं तो मैंने यहां कस्टिंग काउच की प्रॉŽलम तो फेस नहीं की लेकिन उन्होंने बॉलीवुड और साउथ फिल्म इंडस्ट्री दोनों ही जगह हैरेसमेंट फेस किया है। मैं किसी का नाम नहीं ले सकती क्योंकि वो सभी बहुत पावरफुल हैं लेकिन यहां कुछ महिलाओं और पुरुष दोनों ने ही मुझे 'हेल्पलेस' फील करने में कोई भी कसर नहीं छोड़ी।' 
चाहती हैं खुद की सिक्योरिटी
हालांकि, अमायरा ने किसी का नाम तो नहीं लिया पर वो कहती हैं कि एक दिन वो निश्चित तौर पर उनके नाम जरूर लेंगी और इसके पीछे की वजह है उनकी सेफ्टी। वह कहती हैं, 'जब तक मैं खुद को सेफ और सिक्योर नहीं फील करती, तब तक मैं किसी पर भी उंगली नहीं उठाऊंगी। वो लोग अच्छी तरह से जानते हैं कि वो कौन हैं और उन्होंने क्या किया है। अभी तो मैं बस इतना ही कहूंगी कि अच्छा यही होगा कि वो लोग अपनी इन हरकतों को बंद कर दें क्योंकि बदलाव की लहर चल चुकी है और उनका स्टेटस उन्हें ज्यादा वक्त तक बचा नहीं पाएगा।' 
वक्त की जरूरत है मीटू
एक दूसरा इंसिडेंट बताते हुए कि उनकी एक दूसरी फिल्म का डायरेक्टर हमेशा उन पर चिल्लाया करता था। वह कहती हैं, 'कभी वो मुझे जल्दी बुला लेता था। मुझे पूरा दिन वैनिटी वैन में इंतजार करना पड़ा था और फिर 12-13 घंटों के बाद मुझसे कहा जाता कि वो शूटिंग नहीं करेंगे। डायरेक्टर का कहना था कि मुझे खुद को लकी फील करना चाहिए कि उसने मुझे फिल्म में लिया है।' अमायरा कहती हैं कि आज जो मीटू मूवमेंट शुरू हुआ है वो वक्त की जरूरत है और जो लोग अपने-अपने लेवल पर महिलाओं का हैरेसमेंट कर रहे हैं, उन्हें अब अलर्ट हो जाने की जरूरत है। अब आवाज उठी है और इस पर बुरा करने वालों को सजा होनी ही चाहिए। 

features@inext.co.in   

KANPUR: एक रीसेंट इंटरैक्शन के दौरान अमायरा दस्तूर ने कहा कि वह भी बॉलीवुड में हैरेसमेंट का शिकार हो चुकी हैं लेकिन उनमें इतनी हिम्मत नहीं कि वो उन लोगों का नाम ले सकें जिन्होंने उन्हें हैरेस किया। इतना ही नहीं, अमायरा की सबसे हैरान करने वाली बात ये है उन्हें न सिर्फ पुरुष बल्कि महिलाओं ने भी हैरेस किया। 

फिल्म इसक से किया था डेŽब्यू 

अमायरा ने अपना एक्टिंग डेŽब्यू 2013 में फिल्म इसक से किया था। इसके बाद वह मिस्टर एक्स, कलाकांडी और कुंग फू योगा जैसी फिल्मों में भी नजर आईं। बॉलीवुड के अलावा अमायरा कुछ तमिल और तेलुगू फिल्मों का भी हिस्सा रह चुकी हैं। करियर में जहां अमायरा अभी धीरे-धीरे आगे बढ़ रही हैं, वहीं अभी तक की उनकी जर्नी रही है उसमें उन्हें भी हैरेसमेंट का सामना करना पड़ा है। 

एक इंसिडेंट को याद करते हुए उन्होंने कहा, 'एक बार एक गाने की शूटिंग के दौरान फिल्म का एक्टर मेरे बिल्कुल करीब आ गया और मेरे कानों में बोला कि उसे बहुत खुशी है कि मैं उसके साथ फिल्म में काम कर रही हूं। जब मैंने उससे दोबारा बात करने से मना कर दिया तो उसने वहां मेरे लिए सिचुएशन बहुत खराब कर दी। जब मैंने ये बात अपने डायरेक्टर को बताई तो उसने मुझे चुप रहने की सलाह दी। मुझे सेट पर जल्दी बुला लिया जाता था और मुझे घंटों इंतजार करवाया जाता था। मुझसे 18 घंटों तक काम करवाया गया है।'' अमायरा ने ये भी बताया कि इस पूरे इंसिडेंट का अंजाम ये हुआ कि प्रोड्यूसर से उन्हें ही उस एक्टर से माफी मांगने के लिए मजबूर कर दिया।  

जब हो गई थीं हेल्पलेस

एक न्यूज एजेंसी के साथ बात करते हुए अमायरा ने बताया, 'सच कहूं तो मैंने यहां कस्टिंग काउच की प्रॉŽलम तो फेस नहीं की लेकिन उन्होंने बॉलीवुड और साउथ फिल्म इंडस्ट्री दोनों ही जगह हैरेसमेंट फेस किया है। मैं किसी का नाम नहीं ले सकती क्योंकि वो सभी बहुत पावरफुल हैं लेकिन यहां कुछ महिलाओं और पुरुष दोनों ने ही मुझे 'हेल्पलेस' फील करने में कोई भी कसर नहीं छोड़ी।' 

चाहती हैं खुद की सिक्योरिटी

हालांकि, अमायरा ने किसी का नाम तो नहीं लिया पर वो कहती हैं कि एक दिन वो निश्चित तौर पर उनके नाम जरूर लेंगी और इसके पीछे की वजह है उनकी सेफ्टी। वह कहती हैं, 'जब तक मैं खुद को सेफ और सिक्योर नहीं फील करती, तब तक मैं किसी पर भी उंगली नहीं उठाऊंगी। वो लोग अच्छी तरह से जानते हैं कि वो कौन हैं और उन्होंने क्या किया है। अभी तो मैं बस इतना ही कहूंगी कि अच्छा यही होगा कि वो लोग अपनी इन हरकतों को बंद कर दें क्योंकि बदलाव की लहर चल चुकी है और उनका स्टेटस उन्हें ज्यादा वक्त तक बचा नहीं पाएगा।' 

वक्त की जरूरत है मीटू

एक दूसरा इंसिडेंट बताते हुए कि उनकी एक दूसरी फिल्म का डायरेक्टर हमेशा उन पर चिल्लाया करता था। वह कहती हैं, 'कभी वो मुझे जल्दी बुला लेता था। मुझे पूरा दिन वैनिटी वैन में इंतजार करना पड़ा था और फिर 12-13 घंटों के बाद मुझसे कहा जाता कि वो शूटिंग नहीं करेंगे। डायरेक्टर का कहना था कि मुझे खुद को लकी फील करना चाहिए कि उसने मुझे फिल्म में लिया है।' अमायरा कहती हैं कि आज जो मीटू मूवमेंट शुरू हुआ है वो वक्त की जरूरत है और जो लोग अपने-अपने लेवल पर महिलाओं का हैरेसमेंट कर रहे हैं, उन्हें अब अलर्ट हो जाने की जरूरत है। अब आवाज उठी है और इस पर बुरा करने वालों को सजा होनी ही चाहिए। 

ये भी पढ़ें: #MeToo महाराष्ट्र कमिशन फॉर विमेन ने नाना को इश्यू किया नोटिस

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk