- चौबटिया पहुंची अमेरिकी सैन्य टुकड़ी, गर्मजोशी से स्वागत

- भारत व अमेरिका के बीच रविवार से शुरू होने वाले 14वें 'संयुक्त सैन्य अभ्यास-2018' की तैयारी पूरी

-'काउंटर इंसर्जेसी व काउंटर टेररिज्म' के तहत दो सप्ताह तक चलेगा कड़ा अभ्यास

रानीखेत (अल्मोड़ा) : अमेरिकी सैन्य टुकड़ी देवभूमि में भारतीय सेना के साथ सयुंक्त युद्धाभ्यास करेगी. शुक्रवार को कड़ी सुरक्षा के बीच अमेरिकी सैन्य टुकड़ी चौबटिया छावनी क्षेत्र में पहुंच गई है. 16 सितंबर से 'काउंटर इंसर्जेसी एवं काउंटर टेररिज्म' थीम पर भारत व अमेरिकी सेना का 14वां संयुक्त सैन्याभ्यास शुरू होगा.

टेररिज्म पर अहम सैन्याभ्यास

रक्षा सहयोग एवं सामरिक संबंधों को और मजबूती देने के मकसद से भारत व अमेरिका के बीच इस 'संयुक्त सैन्य युद्ध अभ्यास' को बेहद अहम माना जा रहा है. सैन्य सूत्रों के मुताबिक 16 सितंबर यानी रविवार से 29 सितंबर तक चलने वाले युद्धाभ्यास में खासतौर पर आतंकवाद के खात्मे और आंतरिक सुरक्षा के पहलुओं से जुड़े 'काउंटर इंसर्जेसी एवं काउंटर टेररिज्म' के तहत इंडो अमेरिकन सेना के जांबाज अपने रण कौशल का प्रदर्शन करेंगे. शुक्रवार को अमेरिकी सेना की टुकड़ी अल्मोड़ा के चौबटिया पहुंची. भारतीय सेना ने गर्मजोशी से मेहमान सैन्य अधिकारियों व सैनिकों का स्वागत किया. अब रविवार को गरुड़ मैदान में दोनों राष्ट्रों की सेना के संयुक्त मार्चपास्ट से युद्ध अभ्यास की शुरुआत होगी.

सैन्य अफसरों ने साझा किए अनुभव

सैन्य सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार को यहां पहुंचे भारत व अमेरिकी सैन्य विशेषज्ञों तथा अधिकारियों ने रणनीतिक, तकनीकि एवं आतंकवाद के खात्मे को चलाए जाने वाले ऑपरेशन आदि से जुड़े अनुभव साझा किए. पूर्व में अमेरिका व भारत में सैन्य अभ्यास के दौरान साथ रह चुके सैन्य अधिकारियों ने विभिन्न तकनीक व बिंदुओं पर भी विचारों का आदान-प्रदान किया.