मेघदूत पुलिया पर जाम लगाकर किया हंगामा

Meerut. नगर निगम के वार्डो में बॉयोमेट्रिक हाजिरी की स्थाई व्यवस्था के होने के कारण शनिवार को सफाई कर्मचारियों ने हंगामा किया. शनिवार को मेघदूत पुलिया के पास एक हॉस्पिटल के बाहर हाजिरी लगाने के दौरान हॉस्पिटल संचालक ने सफाई कर्मचारियों का विरोध करते हुए अभद्रता कर दी, जिसके विरोध में सफाई कर्मचारियों ने मेघदूत पुलिया पर जाम लगाते हुए हंगामा कर दिया.

कार्रवाई की मांग

शनिवार सुबह वार्ड 52 में बॉयोमैट्रिक हाजिरी के लिए पहुंचे सफाई कर्मचारी हेमकुंड नर्सिग होम के बाहर हाजिरी लगाने के लिए एकत्र थे. आरोप है कि हॉस्पिटल के डॉक्टर ने दूसरी जगह पर जाने को कहा. इस बात पर कहासुनी हो गई और मामला मारपीट तक पहुंच गया. मामले की जानकारी मिलते ही निगम के सफाई कर्मचारी मंत्री कैलाश चंदौला के नेतृत्व सैकड़ों कर्मचारी में मौके पर पहुंच गए और डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर हंगामा कर दिया. हंगामे के बाद सभी सफाई कर्मचारियों ने आपात बैठक की. बैठक में विनोद चंदौला, विनेश विद्यार्थी, दीपक मनोठिया, मनोज, जीतू चौधरी आदि शामिल रहे.

गंदगी देख भड़कीं महापौर

महापौर सुनीता वर्मा ने शनिवार को शहर के वार्ड 13 व 14 में सफाई व्यवस्था का निरीक्षण किया. इस दौरान महापौर ने गंदगी व कूडे़ के ढेर पर जुर्माना भी लगाया और पार्को की जर्जर हालत सुधारने के लिए निर्देश दिए. वहीं दामोदर कॉलोनी के बी 5 प्लॉट में कूडे़ का ढेर मिलने पर प्लॉट स्वामी का 20 हजार रुपए का चालान काटने का निर्देश दिया. इसके अलावा हनी गोल्फ, मोतीप्रयाग, जयभीम नगर आदि का भी निरीक्षण किया. इस दौरान अपर नगरायुक्त अमित कुमार, स्वास्थ्य अधिकारी गजेंद्र सिंह, नीना सिंह आदि मौजूद रहे.