- जल्द शुरू होगी 24 घंटे हेल्पलाइन सर्विस और टोल फ्री नम्बर होगा जारी

- पब्लिक के सूचना देने पर मौके पर पहुंचेंगे निगम कर्मी, कराएंगे इलाज

1ड्डह्मड्डठ्ठड्डह्यद्ब@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

ङ्कन्क्त्रन्हृन्स्ढ्ढ

बीमार और घायल पशुओं का उपचार नगर निगम कराएगा. इसके लिए निगम की ओर से जल्द हेल्पलाइन सर्विस शुरू की जाएगी और टोल फ्री नम्बर जारी होगा. जिस पर पब्लिक 24 घंटे सूचना दे सकेगी. सूचना मिलने पर निगम कर्मी उपचार के लिए मौके पर पहुंचेंगे. नगर निगम इस दिशा में काम कर रही कुछ सामाजिक संस्थाओं की भी मदद लेगा. इसके लिए शासन से दो वाहनों की डिमांड की गई है.

कॉल पर मिलेगा तुरंत रिस्पांस

नगर निगम के अफसरों के मुताबिक हेल्पलाइन पर किसी पशु के बीमार या घायल होने की सूचना मिलने पर निगम कर्मी और सामाजिक संस्था के लोग मौके पर पहुंचेंगे. अगर सम्भव होगा तो ऑन द स्पॉट ही उस जानवर का उपचार किया जाएगा. अगर बेहतर इलाज की जरूरत होगी तो निगम के वाहन से उसें अस्पताल भेजा जाएगा. इलाज के बाद उस जानवर को कांजी हाउस या कान्हा उपवन में रखा जाएगा.

कारगर साबित होगी सर्विस

आमतौर पर सड़कों पर घूमने वाले आवारा जानवर पब्लिक के लिए परेशानी का सबब बनते हैं. वहीं कई बार लोगों की गलतियों या फिर अपनी लापरवाही की वजह से चोटिल हो जाते हैं या बीमार पड़ जाते हैं. ऐसी स्थिति में घायल जानवरों का तत्काल उपचार नहीं हो पाता है. कई बार समय से उपचार नहीं मिलने पर जानवरों की मौत तक हो जाती है. ऐसे में नगर निगम की यह सर्विस काफी कारगर साबित होगी.

जानवरों को रखना बड़ी समस्या

नगर निगम के भोजूबीर और नक्खीघाट में कांजीहाउस हैं. जहां आवारा पशुओं को रखने की व्यवस्था है, लेकिन दोनों कांजीहाउसों में निर्धारित क्षमता से ज्यादा पशुओं को रखा गया है. जिससे उन्हें परेशानी होती है. पशुओं के उपचार के लिए निगम का लहुराबीर में पशु अस्पताल है.

एक नजर

2437

ऑपरेट होगी हेल्पलाइन

600

पशुपालक हैं शहर में

10

कर्मचारी रहेंगे मौके पर जाने वाली टीम में

इसके लिए जानवरों के लिए काम करने वाली दो संस्थाओं से बात हो चुकी है. नगर निगम कार्यालय में ही हेल्पलाइन सर्विस रूम बनेगा.

डॉ. नितिन बंसल, नगर आयुक्त