अरविंद केजरीवाल, आप अल्पसंख्यक विंग के अध्यक्ष इरफान उल्ला खान व महासचिव शाहिद आजाद के बीच पिछले साल 25 नवंबर को हुई बातचीत के आडियो स्टिंग में केजरीवाल को माइनॉरिटी कार्ड खेलते हुए प्रेजेंट किया गया है. ये ऑडियो तब का है जब पार्टी के अल्पसंख्यक नेता विधानसभा चुनाव के टिकट वितरण में मुसलमानों को उचित प्रतिनिधित्व देने की मांग को लेकर केजरीवाल से मिलने गए थे. स्टिंग ऑडियो शाहिद आजाद ने जारी करते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल का कहना था कि प्रत्येक वर्ग को जनसंख्या के हिसाब से प्रतिनिधित्व मिलना चाहिए, लेकिन देश में मुसलमानों को उनकी संख्या के हिसाब से न तो लोकसभा में और न ही विधानसभा में प्रतिनिधित्व है. आप पार्टी के संयोजक ने कहा था कि पार्टी उन्हें उचित प्रतिनिधित्व देगी.
 
आजाद ने कहा कि पहली बार मुख्यमंत्री बनने के बाद इंडिया इस्लामिक कल्चरल सेंटर में एक कार्यक्रम में केजरीवाल ने कहा था कि जनसंख्या के हिसाब से मुस्लिमों को 15 सीट मिलनी चाहिए, लेकिन वह 18 उम्मीदवारों को उतारेंगे, लेकिन लोकसभा में जिस तरह टिकट वितरण हुआ उससे लगा कि पार्टी अपने उद्देश्यों से भटक रही है. इसके बाद इस विधानसभा चुनाव में अल्पसंख्यक विंग ने दिल्ली में 10 मुस्लिम व एक ईसाई को टिकट देने की मांग की थी तो केजरीवाल भडक़ गए. स्टिंग में केजरीवाल कहते हुए पाए जा रहे हैं कि मुस्लिम को लग रहा है कि मोदी रथ आप ही रोक सकती है इसलिए वह हमें वोट देंगे. सबको लग रहा है कि कांग्रेस कहीं चुनाव नहीं लड़ रही है.

आसिफ ने भी संजय सिंह को घेरा
उधर, ओखला से कांग्रेस के पूर्व विधायक मुहम्मद आसिफ ने दावा किया है कि आप नेता संजय सिंह और मनीष सिसोदिया ने विधानसभा भंग होने से करीब एक महीने पहले उनसे मुलाकात की थी. कांग्रेस के पांच अन्य विधायकों को साथ लाने पर मंत्री बनाने का ऑफर दिया गया था. उनके पास संजय सिंह से मुलाकात का टेप है. यदि संजय उनके दावे का खंडन करते हैं तो वह इसे जारी कर देंगे. पत्रकारों से वार्ता में मुहम्मद आसिफ ने बताया कि संजय सिंह से पहली मुलाकात नोएडा में एक पत्रकार के घर पर हुई थी. कांग्रेस के फिर से आप को समर्थन देने की बात पार्टी आलाकमान तक पहुंचाने के लिए कहा गया. दूसरी तरफ संजय सिंह ने आसिफ के आरोपों को गलत बताया है.

Hindi News from India News Desk

National News inextlive from India News Desk