lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय ने राज्य सरकार द्वारा इस बाबत भेजी गयी सिफारिश को मंजूर करते हुए सेवा विस्तार के आदेश जारी कर दिए। इस आदेश के बाद अनूप चंद्र पांडेय आगामी 31 अगस्त तक सूबे के मुख्य सचिव के पद पर बरकरार रहेंगे और लोकसभा चुनाव कराएंगे।

इंवेस्टर्स समिट बना वजह
योगी सरकार में 1984 बैच के आईएएस डॉक्टर अनूप चंद्र पांडेय को विगत 30 जून 2018 को सूबे का मुख्य सचिव बनाया गया था। इससे पहले राहुल भटनागर की जगह केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से वापस बुलाए गये राजीव कुमार मुख्य सचिव थे। दरअसल आईआईडीसी रहने के दौरान अनूप चंद्र पांडेय ने इंवेस्टर्स समिट का सफलतापूर्वक आयोजन कराया था जिसके बाद उनका नाम मुख्य सचिव की रेस में आया था। राजीव कुमार के रिटायर होने पर 13 अफसरों को सुपरसीड कर उनको सूबे की ब्यूरोक्रेसी का चीफ बनाया गया। इसके बाद उनकी अगुवाई में ही 60 हजार करोड़ की परियोजनाओं की ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी भी आयोजित की गयी। ध्यान रहे कि इससे पहले योगी सरकार में डीजीपी रहे सुलखान सिंह को भी सेवा विस्तार मिल चुका है।

शिवपाल के दामाद को भी विस्तार
वही दूसरी ओर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के दामाद आईएएस अजय यादव की यूपी कैडर में डेप्युटेशन की अवधि केंद्र सरकार ने दो साल के लिए बढ़ा दी गयी है। तामिलनाडु कैडर के आईएएस अजय यादव की डेप्युटेशन की अवधि विगत 31 दिसंबर को ही समाप्त हो गयी थी जिसके बाद वे दो माह की छुट्टी पर चले गये थे। सूत्रों की मानें तो कुछ दिन पहले शिवपाल ने प्रतिनियुक्ति की अवधि बढ़ाने के लिए सीएम योगी से संपर्क भी साधा था। ध्यान रहे कि अजय यादव सूबे में सपा सरकार बनने के बाद जनवरी 2016 में इंटर कैडर डेप्युटेशन पर यूपी आए थे। करीब एक साल तक बाराबंकी के डीएम भी रहे। इसके बाद उन्हें यूपी लैंड रिफॉर्म कॉरपोरेशन का एमडी का पद सौंपा गया था।

लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर चुनाव आयोग ने लिया जायजा, बड़े पैमाने पर होंगे तबादले

National News inextlive from India News Desk