कैलिफोर्निया (राॅयटर्स)। एेपल कंपनी का बाजार पूंजीकरण एक खबर डाॅलर पहुंच गया है। इस उपलब्धि को हासिल करने वाली आर्इफोन निर्माता एेपल दुनिया की पहली कंपनी बन गर्इ है। कंपनी के सीर्इआे टिम कुक इस उपलब्धि को एेपल की सफलता के लिए बहुत महत्वपूर्ण नहीं मानते हैं। साथ ही वे यह भी मानते हैं कि कंपनी के प्रोडक्ट, कस्टमर आैर कंपनी के मूल्यों के प्रति प्रतिबद्घ होने के कारण ही हम यह उपलब्धि हासिल कर सके हैं।

कंपनी के लिए गर्व की बात
टिम ने कंपनी के 1.2 लाख कर्मचारियों को भेजे एक मेमो में इसे गर्व की बात बताया लेकिन साथ ही यह भी कहा कि यह कंपनी का लक्ष्य नहीं है। उनका कहना था कि पूंजी के रूप में जो भी रिटर्न मिलता है वह इनोवेशन, कस्टमर की प्राथमिकता आैर उत्पाद के प्रति प्रतिबद्घता आैर कंपनी के मूल्यों का परिणाम है। बृहस्पतिवार को एेपल के शेयर 207.39 डाॅलर पर बंद हुए। इसके साथ ही कंपनी एक खबर डाॅलर का बाजार पूंजीकरण हासिल करने वाली दुनिया की पहली लिस्टेड कंपनी बन गर्इ।

1970 में स्टीव जाॅब्स ने बनार्इ कंपनी
स्टीव जाॅब्स ने 1970 के दशक में एेपल की नींव रखी थी।  पर्सनल कंप्यूटर के साथ यह 1980 के दशक में यह दुनिया के सामने आर्इ। 1980 के मध्य में कंपनी के तीन संस्थापकों में से एक स्टीव को ही कंपनी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। एक दशक बाद जब वे वापस कंपनी में लौटे तो एेपल दीवालिया होने की कगार पर पहुंच चुकी थी। आने के बाद स्टीव ने कंपनी को एक बार फिर से जिंदा कर दिया आैर उसे दीवालिया होने से बचा लिया।

भारत में एप्‍पल आईफोन के 1 करोड़ यूजर! 11वां पसंदीदा स्‍मार्टफोन ब्रांड बना देश में

खुशखबरी! भारत में सस्‍ते हुए iPhone के पुराने मॉडल्‍स, जानें नई कीमतें

Business News inextlive from Business News Desk