रेल नीर की शॉर्टेज बताकर चल रहा कमीशन का खेल

आदेश के बावजूद स्टेशन पर बिक रही लोकल ब्रांड की वॉटर बोतल

रेल नीर की बजाए लोकल ब्रांड की बोतलों में मिलता है अच्छा कमीशन

10 बोतलों का पैक 140 रुपए में मिलता है रेल नीर का.

90 रुपए की लोकल ब्रांड का पैक वेंडर को मिलता है.

15 रुपए के दाम में दोनों बोतलों को बेचा जाता है.

1 रुपए का फायदा होता है वेंडर को रेल नीर की बोतल पर

6 रुपए से अधिक का प्रॉफिट होता है लोकल ब्रांड की बोतल पर

इसलिए वेंडर भी लोकल ब्रांड को बेचना पसंद करते हैं.

अप्रैल और मई माह में एक बार भी सप्लाई नही हो सकी है.

Meerut. देश के सभी रेलवे स्टेशनों पर रेल नीर की शत प्रतिशत उपलब्धता का दावा मेरठ के दोनों प्रमुख स्टेशन सिटी और कैंट में फेल साबित हो रहा है. हालत यह है कि इन स्टेशन पर लोकल ब्रांड की पानी की बोतले धड़ल्ले से बिक रही हैं. मेन फूड काउंटर्स से लेकर खुद आईआरसीटीसी के काउंटर पर भी रेल नीर की बजाए लोकल ब्रांड पानी की बोतलों को धड़ल्ले से बेचा जा रहा है.

स्टॉक न होने के बहाना

रेल अधिकारियों के मुताबिक गर्मियों की शुरुआत में ही रेल नीर की शार्टेज के चलते सप्लाई बाधित हो गई थी. मेरठ सिटी स्टेशन पर सीजन की शुरुआत में ही एक बार रेल नीर का स्लॉट भेजा गया था जोकि मार्च माह में ही बिक गया उसके बाद अप्रैल और मई माह में एक बार भी सप्लाई नही हो सकी है. जिसके चलते स्टेशन पर लोकल ब्रांड की भरमार है.

पानी की शुद्धता की गारंटी जीरो

रेलवे स्टेशन पर बिकने वाले पानी की शुद्धता की हर माह हेल्थ इंस्पेक्टर द्वारा जांच की जाती है लेकिन इसके बावजूद पैक्ड वाटर बोतल को बिना जांच के ही स्टेशन पर बिकने दिया जा रहा है. पानी पैक्ड है केवल इसलिए उसे शुद्ध मान लिया जाता है जबकि ब्रांडेड कंपनियों की वाटर बोतल को लोकल जांच से छूट मिली हुई है.

रेल नीर की शतप्रतिशत उपलब्धता केवल प्रीमियम स्टेशनों पर रखने का आदेश है. मेरठ प्रीमियम श्रेणी में नही आता इसलिए यहां प्राथमिकता के तौर पर स्टॉक नही भेजा जा रहा है.

आरपी शर्मा, स्टेशन अधीक्षक

रेलवे स्टेशन पर बिकने वाले पानी की गुणवत्ता की समय समय पर जांच की जाती है. जिन वाटर बोतलों पर सही जानकारी नही है उन्हें प्रतिबंधित किया हुआ है.

वीरेंद्र हेल्थ इंस्पेक्टर