क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : शहर के समेकित विकास के लिए नई स्ट्रैटजी बनाई जा रही है. अब एरिया बेस्ड इंटीग्रेटेड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट लागू किए जाने का प्लान है. इसके तहत शहर के किसी इलाके को चयनित कर वहां सारी मूलभूत सुविधाएं योजनाबद्ध तरीके से उपलब्ध कराई जाएगी. इसमें बिजली, पानी, सड़क, ड्रेनेज-सीवरेज और केबुल समेत तमाम जरूरी सुविधाएं मिलेंगी. झारखंड अर्बन इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट एजेंसी (जुडको) ने रांची के अलावा धनबाद, मानगो, मेदिनीनगर, दुमका और देवघर का चयन एरिया बेस्ड इंटीग्रेटेड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट प्लान के लिए किया है.

दूर होगी परेशानियां

शहर के चुने गए इलाके में तमाम बुनियादी सुविधाएं एक साथ उपलब्ध कराए जाने के मकसद से शुरू किए जा रहे एरिया बेस्ड इंटीग्रेटेड डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के डीपीआर बनाने की तैयारी शुरु कर दी गई है. जुडको के अधिकारियों का कहना है कि इससे न सिर्फ शहर के विकास की गति को रफ्तार मिलेगी, बल्कि लोगों को भी एक-एक परेशानी अथवा समस्या के लिए अलग-अलग चक्कर नहीं लगाना होगा. एक ही प्लान के जरिए लोगों को सारी जरूरी सुविधाएं मुहैय्या कराई जाएगी.

ऐसे होगा चयनित इलाके का विकास

एरिया बेस्ड इंटीग्रेटेड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट प्लान के तहत एक डक बनाया जाएगा. इसमें पानी पाइप लाइन, बिजली लाइन, मोबाइल कंपनियों समेत सभी जरूरी नेटवर्क के केबल होंगे. इसके अलावा सड़कों का जाल भी बिछाया जाएगा और ड्रेनेज-सीवरेज की भी मुकम्मल व्यवस्था होगी. इलाके में रहने वाले बाशिंदों को तमाम सुविधाएं एक डक के माध्यम से उपलब्ध कराने का मकसद उन्हें तरह-तरह की परेशानियों से निजात दिलाना है.

विकास के सभी काम एक साथ होंगे

नगर विकास विभाग के मुताबिक, एरिया बेस्ड इंटीग्रेटेड डेवलपमेंट की सबसे बड़ी खासियत विकास से जुड़े सभी काम एक ही साथ संचालित किया जाना है. इसमें एरिया को चयनित कर एक ही साथ बिजली,पानी, सड़क, ड्रेनेज-सीवरेज व केबुल की सुविधा प्रोवाइड कराई जाएगी. इससे न सिर्फ समय की बचत होगी, बल्कि लागत में भी काफी कमी आएगी.