-राजस्थान के लालगढ़ से वाया दिल्ली गुवाहटी जाने वाली अवध असम एक्सप्रेस ट्रेन का मामला

-पैसेंजर्स ने जीआरपी, आरपीएफ, स्टेशन प्रबंधन और आर्मी अफसरों से की शिकायत

बरेली : राजस्थान के लालगढ़ से वाया दिल्ली गुवाहाटी जाने वाली अवध असम एक्सप्रेस (15910) दोपहर करीब एक बजे जंक्शन पहुंची। यहां कई फौजी अवध असम के आरक्षित कोच में दाखिल हो गए और करीब दर्जन भर जवान जनरल कोच में घुस गए। मुसाफिरों के मुताबिक ट्रेन में घुसते ही जवानों ने सभी को बाहर निकलने को कहा। जो नहीं माना उसे पीटकर बोगी से नीचे धकेल दिया। इससे पहले मुसाफिर रेलवे के अधिकारियों से शिकायत कर पाते ट्रेन जंक्शन से रवाना हो गई। इसके बाद सौ से ज्यादा मुसाफिर स्टेशन मास्टर के पास पहुंचे। यहां से जीआरपी, आरपीएफ और फिर रेलवे स्टेशन प्रबंधन होते हुए आर्मी के आलाधिकारियों तक शिकायत की।

ट्रेन में ही छूट गया सामान

अवध असम एक्सप्रेस ट्रेन में चढ़ते समय आरक्षित कोच में तो फौजियों ने कब्जा कर लिया। तो कुछ बचे हुए फौजियों ने जनरल कोच में भी आंतक मचाना शुरू कर दिया। फौजियों ने जनरल कोच में बैठे पैसेंजर्स को भी धक्का देकर उतार दिया। इससे कई पैसेंजर्स का सामान ट्रेन में ही छूट गया लेकिन वह सामान उतारने तक की हिम्मत नहीं जुटा पाए। कोच में एंट्री करते ही फौजियों ने ट्रेन से नीचे धक्का देकर उतारना शुरू कर दिया। तब तक ट्रेन भी चल दी। परेशान पैसेंजर्स ट्रेन में छूट गए सामान को दिलाने के लिए इधर-उधर अफसरों से गुहार लगाते रहे।

हरदोई में रुकवाई ट्रेन

जीआरपी, आरपीएफ और रेलवे स्तर पर मैसेज मिलने के बाद हरदोई स्टेशन पर ट्रेन से मुसाफिरों का सामान उतरवाया गया। वहीं, सभी उतारे गए मुसाफिरों को काठगोदाम-लखनऊ एक्सप्रेस (15044) में बैठाया गया। ट्रेन को विशेष रूप से हरदोई स्टेशन रुकवाया जाएगा। जिससे मुसाफिर अपना सामान ले सकें।

वर्जन::