- नो योर आर्मी मेल में दिखा छात्रों का क्रेज

- आर्मी के हथियारों को देख खिल उठे छात्रों के चेहरे

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: अंकल! क्या ये टैंक पानी में भी चलता है. इससे दुश्मनों पर कितनी दूर तक फायर किया जा सकता है. टी-90 टैंक से लेकर ग्रेनेड लांचर तक युद्ध में कितने पावरफुल हैं. कुछ ऐसे ही सवालों से गुरुवार दिलकुशा लॉन गूंज रहा था. मौका था मध्य कमान मुख्यालय की ओर से आयोजित दो दिवसीय 'अपनी सेना को जानें' मेले का. मेले में सैन्य जवानों ने एनसीसी कैडेट्स सहित तमाम स्कूलों के बच्चों के उनके सवालों के जवाब देकर उनकी जिज्ञासा शांत की. साथ ही उन्होंने हथियार और टैंक की विशेषता से रूबरू कराया.

स्टॉल पर बच्चों का लगा रहा जमावड़ा

सेना के जवानों ने इतना ही नहीं सेना के जवानों ने बच्चों को कार्बाइन, एसएलआर, माउजर, मशीन गन जैसे हथियारों को लोड करना और ट्रिगर दबाना भी सिखाया. मेले का उद्घाटन मध्य यूपी सब एरिया के जनरल ऑफीसर कमांडिंग (जीओसी) मेजर जनरल प्रवेश पुरी ने किया. मेले में अत्याधुनिक सैन्य हथियारों एवं उपकरणों के प्रदर्शन के लिए स्टॉल लगाए गए. मेले में आर्मी पब्लिक स्कूल, सेंट पॉल स्कूल, सेंट जोसेफ स्कूल, एनसीसी कैडेट्स सहित कई स्कूल के स्टूडेंट्स शामिल हुए. इस मौके पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी पेश किये.

इनके बारे में जाना

मेले में टी-90 टैंक, टी-55 टैंक, ऑटोमेटिक मशीन गन, ग्रेनेड लांचर, एंटी टैंक मिसाइल, कई तरह की आर्टिलरी गन, इंफैन्ट्री हथियार व उपकरण, इंजीनियर उपकरण, इंजीनियर ब्रिज, रोबोटिक बम निरोधक उपकरण, माइन प्रोटेक्टेड व्हिकल, बाढ़ सहायता उपकरण, अत्याधुनिक चिकित्सा उपकरण के स्टॉल लगाए गए.