हाईटेक स्किल होंगे डेवलप, जल्द होगा शुरु

meerut@inext.co.in
MEERUT : आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मांग तेजी से बढ़ रही है. देश के साथ ही विदेशों में भी इसका स्कोप देखने में आ रहा है. स्टूडेट्स के ब्राइट फ्यूचर को देखते हुए अब आईटीआई में भी एडवांस तकनीक वाले इन कोर्सेज को शामिल किया जाएगा. इससे जहां छात्रों का भविष्य चमकेगा वहीं स्टूडेंट्स में आईटीआई के प्रति क्रेज बढ़ेगा और संस्थागत ढांचा भी मजबूत होगा. रेडियोलॉजी, एनिमेशन जैसे कोर्स यहां शुरु हो चुके हैं. आईटीआई साकेत के कोर्डिनेटर बनी सिंह ने बताया कि एडवांस तकनीक वाले कोर्सेज जल्द शुरु होने जा रहे हैं. इसके लिए इंस्ट्रक्टर की व्यवस्था अभी होनी है. इन कोर्सेज से स्टूडेंट्स को काफी फायदा होगा.

ये कोर्स होंगे शुरु

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, वर्चुअल रियलिटी, रोबोटिक प्रोसेस ऑटोमेशन, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, रोबोटिक्स, बिग डेटा एनालिटिक्स और 3डी प्रिंटिंग जैसे कोर्स शुरू किए जाएंगे. इससे छात्रों में नए स्किल्स डेवलेप होंगे साथ ही इन कोर्सेज आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग इंटरनेट ऑफ थिंग्स, 3डी प्रिंटिंग और ब्लॉकचेन जैसे स्टार्टअप्स को भी शुरु किया जाएगा.

विदेश में चमकेंगे स्टूडेंट्स

तेजी से हाईटेक होती दुनिया में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का जादू सिर चढ़कर बोल रहा है. कैली ओसीजी की रिपोर्ट के मुताबिक 2018 तक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मांग में 60 फीसदी की बढ़ोतरी होगी. ऐसे में इन एडवांस कोर्सेज की बदौलत स्टूडेंट्स नए स्किल डेवलप कर देश-विदेश में चमक सकेंगे. आईटीआई में इसे प्रमोट करने के लिए डायरेक्टर जनरल ऑफ ट्रेनिंग और नैसकॉम के बीच कांट्रेक्ट भी हो चुका है. हालांकि नीति आयोग भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसे विषय पढ़ाने की पैरवी कर चुका है.