prayagraj@inext.co.in
PRAYAGRAJ: उप्र लोक सेवा आयोग की एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती पेपर लीक प्रकरण में परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार के निलंबन के बाद शासन ने नए परीक्षा नियंत्रक की नियुक्ति शुक्रवार को कर दी है। मऊ जिले में मुख्य विकास अधिकारी के पद पर तैनात अरविंद कुमार मिश्रा को परीक्षा नियंत्रक नियुक्त किया गया है। हालांकि उन्हें तत्काल प्रभाव से पद स्थानान्तरित करने का निर्देश दिया गया है। लेकिन श्री मिश्रा ने बताया कि अभी वर्तमान पद से कार्यमुक्त नहीं हुआ हूं। इसलिए उनके अगले सप्ताह कार्यभार संभालने की संभावना है।

प्रयागराज से है पुराना नाता
आयोग के नए परीक्षा नियंत्रक अरविंद कुमार मिश्रा का प्रयागराज से वर्षो पुराना नाता है। अरविंद मिश्रा ने हिन्दू हॉस्टल में रहते हुए इलाहाबाद विश्वविद्यालय से स्नातक और दर्शनशास्त्र व मध्यकालीन इतिहास विषय से परास्नातक की पढ़ाई की है। जबकि प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी उन्होंने टैगोर टाउन एरिया में किराए के कमरे में रहकर की थी।

पीसीएस में हासिल किया था दूसरा स्थान
उप्र लोक सेवा आयोग की प्रतिष्ठित पीसीएस-2002 की परीक्षा में अरविंद मिश्रा ने तत्कालीन इलाहाबाद में रहकर तैयारी करते हुए पूरे प्रदेश में दूसरा स्थान हासिल किया था। इनकी पहली नियुक्ति मैनपुरी जिले में डिप्टी कलक्टर के पद पर 2005 में हुई थी। 2008 में अरविंद मिश्रा फिरोजाबाद जिले के डिप्टी कलक्टर, 2009 में कौशांबी जिले के डिप्टी कलक्टर, 2010 में मेरठ के डिप्टी कलक्टर व 2014 में रामपुर जिले में डिप्टी कलक्टर के पद पर कार्य कर चुके हैं। वर्तमान में वह मऊ जिले में मुख्य विकास अधिकारी के पद पर तैनात हैं।

यह रहेंगी प्रमुख चुनौतियां

-उप्र लोक सेवा आयोग की पीसीएस-2018 की मुख्य परीक्षा कराना व पीसीएस-2017 की मुख्य परीक्षा का परिणाम घोषित करना।

-पीसीएस-2019 के विज्ञापन जैसी परीक्षाओं से संबंधित छमाही कैलेंडर घोषित करना।

-एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा-2018 के अन्तर्गत नौ विषयों का परिणाम घोषित करना।

-जिन छह विषयों का परिणाम घोषित किया गया है उनके अभिलेखों के सत्यापन की नई तारीख की घोषणा करना।