-एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने दरगाह आला हजरत पर की चादरपोशी

-आईएमसी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ मुलाकात कर बनाए विधान सभा चुनाव के समीकरण

<-एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने दरगाह आला हजरत पर की चादरपोशी

-आईएमसी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ मुलाकात कर बनाए विधान सभा चुनाव के समीकरण

BAREILLY

BAREILLY

विवादित बयान देकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लेमीन (एआईएमआईएम) के मुखिया असदउद्दीन ओवैसी यूपी में चुनावी जमीन तलाशने के लिए संडे को बरेली पहुंचे. इस दौरान उन्होंने प्रेसवार्ता में कहा कि पाक पीएम नवाज शरीफ कश्मीर मसले पर जुबान नहीं चलाएं. पाकिस्तान हमारी फिक्र छोड़कर अपने घर में लगी आग बुझाए. उन्होंने कश्मीर में बर्बरता का इल्जाम लगाते हुए कहा कि पत्थर का जवाब गोली से दिया जा रहा है, यह कहां का इंसाफ है. इसके लिए उन्होंने केन्द्र और राज्य सरकार पर भी जमकर निशाना साधा.

अटल के एजेंडे से निकालें हल

कश्मीर मुद्दे पर बोलते हुए उन्होंने कहा स्थानीय निवासियों पर जो गोलियां चलाई जा रही हैं, वह इजराइल से खरीदी गई हैं. बड़ी तादाद में लोग मारे गए हैं. क्900 जख्मी हैं. डेढ़ सौ लोगों की आंखों की रोशनी जा चुकी है. उन्होंने कहा कि कश्मीर का हल पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के एजेंडे से ही हो सकता है. यह काम मोदी सरकार को करना होगा. वहां लोगों के सामने भूखे मरने की नौबत है. हमारी सरकार से मांग है कि क्7 दिन से लगा क‌र्फ्य हटाया जाए. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हर गलत काम के लिए दाढ़ी वाले को जिम्मेदार ठहरा दिया जाता है. चुनाव लड़ने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यूपी में मजबूती से लड़ेंगे.

बनाए चुनावी समीकरण

इससे पहले ओवैसी ने दरगाह आला हजरत पर चादरपोशी की और आईएमसी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा खां से मुलाकात की. दोनों दिग्गज मुस्लिम नेता में प्रदेश के नए सियासी समीकरण बनाने पर चर्चा हुई. क्योंकि बरेली और आसपास के क्षेत्र में मौलाना तौकीर की मुस्लिम वोटों पर अच्छी पकड़ हैं. पिछले विधानसभा चुनाव में क्0 सीटों पर चुनाव लड़ने वाली आईएमसी ने एक सीट पर जीत मिली थी. बाकी सीटों पर भी उसे वोट मिले थे. मौलाना तौकीर रजा खां ने कहा कि वक्त की जरूरत है कि सेकुलर ताकतें यूपी में एक हों. प्रदेश प्रेम का सबूत दें. बिहार का फॉर्मूला यहां भी लागू हो.