-अब रहे बेफिक्र, नहीं लगाने होंगे बैंक व एटीएम के चक्कर

-इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक की आज से हो रही शुरुआत, रेलमंत्री करेंगे लांच

-इसके जरिए आपको सभी बैंकिंग सेवाएं घर बैठे मिलेंगी

अगर आप कैश जमा करने या निकालने के लिए बैंक व एटीएम की कतार से तंग आ चुके हैं तो ये खबर आपके लिए बेहद राहत देने वाली है. आज से बैंकिंग सेवाओं का स्वरूप पूरी तरह से बदलने वाला है. बैंक से संबंधित सभी सेवाओं को देने के लिए बैंक आपके घर तक पहुंचेगा. पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (आईपीपीबी) की आज एक सितंबर से शुरुआत हो रही है. इस बैंक के जरिए आपको सभी बैंकिंग सेवाएं घर बैठे मिलेंगी. शहर के साथ रूरल इलाकों में भी लोग पेमेंट बैंक के माध्यम से डाकियों के जरिये बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठा सकेंगे.

आपका बैंक आपके द्वार

अधिकारियों की मानें तो 'आपका बैंक आपके द्वार' मिशन की तर्ज पर इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक सिर्फ बनारस ही नहीं पूरे देश में घर-घर बैंकिंग सेवाएं पहुंचाने में सक्षम होगा. इसकी लांचिंग के लिए विश्वेश्वगंज स्थित प्रधान डाकघर में तैयारियां कर ली गई हैं. दिल्ली में जहां पीएम मोदी लोगों को पेमेंट बैंक की सौगात देंगे, वहीं बनारस में चीफ गेस्ट केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल इसकी शुरुआत करेंगे.

ये मिलेंगी सुविधाएं

आईपीपीबी के तहत लोग बचत खाता, चालू खाता, मनी ट्रांसफर और डायरेक्ट बेनीफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के अलावा बिल, यूटिलिटी व व्यापारिक भुगतान जैसी कई सेवाएं घर बैठे प्राप्त कर सकेंगे.

सबसे किफायती व भरोसेमंद बैंक

अधिकारियों की मानें तो आम आदमी के लिए यह देश का सबसे आसान, किफायती और भरोसेमंद बैंक होगा. इससे बैंकों की पहुंच से बाहर की आबादी व उन लोगों को लाभ होगा जिन्हें कभी कभार बैंकिंग सेवा प्राप्त होती है. नॉन क्वालिफाई व्यक्ति भी डाकिए के सहयोग से इस सेवा का आसानी से उपयोग कर सकेगा. क्योंकि इसमें एकाउंट होल्डर को अपना खाता व पिन नंबर आदि याद रखने की जरूरत नहीं पड़ेगी. सारा लेन देन सिर्फ क्यूआर कोड को पीओएस मशीन में डालने और अंगुली रखने मात्र से हो जाएगा.

आधार व पैन नंबर से खाता

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में खाता खोलना भी बेहद आसान है. इसमें आपका खाता सिर्फ आधार कार्ड व पैन नंबर से खुल जाएगा. वो भी जीरो बैलेंस पर. आईपीपीबी बैंक काउंटर सेवाओं के अलावा माइक्रो एटीएम, मोबाइल बैंकिंग एप, मेसेज और इंटरेक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम (आईवीआरएस) जैसे माध्यमों से सेवाएं देगा. पोस्टमैन के पहुंचने पर खाता धारक आईपीपीबी के खाते में अधिकतम एक लाख रुपये जमा करा सकेंगे.

बाक्स--

तीन तरह की व्यवस्थाओं पर आधारित होगी सेवा

रेगुलर सेविंग अकाउंट

आईपीपीबी का रेगुलर सेविंग अकाउंट बैंक के एक्सेस पॉइंट्स पर खोला जा सकता है. इस खाते का इस्तेमाल पैसा सुरक्षित रखने, नकद विड्रा, डिपॉजिट करने व अन्य लाभों के लिए कर सकते हैं. इस खाते में जमा पैसों पर 4 प्रतिशत सालाना की दर से ब्याज भी मिलेगा. साथ ही इसमें अनगिनत बार निकासी की अनुमति है.

बेसिक सेविंग अकाउंट

आईपीपीबी के बेसिक सेविंग अकाउंट में रेगुलर सेविंग अकाउंट के सभी फीचर व लाभ उपलब्ध कराए जाएंगे. हालांकि इसमें महीने में सिर्फ 4 बार ही पैसा निकासी की अनुमति होगी. इसका मकसद न्यूनतम शुल्क के साथ प्राथमिक बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध कराना है.

डिजिटल सेविंग अकाउंट

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में इस खाते को काफी इंपॉर्टेस दिया गया है. ये उनके लिए खास है जो टेक सेवी हैं और तकनीक के इस्तेमाल को लेकर काफी सहज हैं. आईपीपीबी ने इनके लिए डिजिटल सेविंग अकाउंट का विकल्प रखा है, इसका इस्तेमाल मोबाइल एप के जरिए किया जा सकता हैं. ऐसा कोई भी व्यक्ति जिसके पास पैन व आधार कार्ड है वो इस खाते को घर बैठे खोल सकता है.

वर्जन--

पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट आईपीपीबी की शुरुआत बनारस के प्रधान डाकघर से रेल मंत्री पीयूष गोयल करेंगे. इसके लिए सभी तैयारियां कर ली गई हैं. इस बैंक की पहुंच उन लोगों तक होगी जिन तक बैंक नहीं हैं.

नितेश पांडेय, डिप्टी सुप्रिटेंडेंट, प्रधान डाकघर