कानपुर। इंडोनेशिया के जकार्ता में हुए 18वें एशियन गेम्स में भारतीय मुक्केबाज अमित पंघाल ने गोल्ड मेडल जीतकर देश का नाम रोशन कर दिया। बॉक्सिंग के पुरुष लाइट फ्लाई स्पर्धा में अमित पंघाल ने उज्बेकिस्तान के खिलाड़ी को हराकर गोल्ड मेडल हासिल किया। अमित के पदक जीतते ही बधाईयों का तांता लग गया। खैर यह मुक्केबाज अब घर वापस आ गया और अपनी एक इच्छा पूरी करना चाहता है। दरअसल अमित ने शनिवार को एक ट्वीट किया उन्होंने लिखा, 'जकार्ता में स्वर्ण पदक देश को समर्पित, बधाईयों के लिए सभी का आभार। मेरा पहला ट्वीट अपने पिताजी और कोच साहब की दिली ख्वाहिश बताने के लिए। दोनों धर्मेंद्र जी के जबरदस्त फैन हैं। उनकी फिल्म के ब्रेक में भी चैनल नहीं बदलने दिया कभी। धरम जी से मुलाकात हो जाए तो खुशी दोगुनी होगी।'
एशियन गेम्स के गोल्ड मेडलिस्ट अमित पंघाल की यह इच्छा पूरी करेंगे सुपरस्टार धर्मेंद्र
धमेंद्र का भी आया जवाब

अमित पंघाल के इस ट्वीट के बाद धमेंद्र जी का जवाब भी आया। उन्होंने ट्वीट किया, 'प्राउड ऑफ यू अमित, मुझे भी आप से मिलके बहुत खुशी होगी। जब भी मुंबई आओगे, बता दें। बधाई हो, आपको, आपके गुरु और आपके परिवार को। आप हर प्रतियोगिता में जीत हासिल करके अपने देश का नाम रोशन करें, ईश्वर से यही प्रार्थना करता हूं।' खैर धमेंद्र के इस जवाब को सुनकर अमित को काफी खुशी हुई होगी।
एशियन गेम्स के गोल्ड मेडलिस्ट अमित पंघाल की यह इच्छा पूरी करेंगे सुपरस्टार धर्मेंद्र
इंडियन आर्मी में ऑफिसर हैं अमित
अमित पंघाल मूल रूप से मैना रोहतक के रहने वाले हैं। इनकी उम्र 22 साल है और जानकारी के मुताबिक, इन्होंने महज आठ साल की उम्र से ही बॉक्सिंग करना शुरू कर दिया था। अमित इंडियन आर्मी के सदस्य हैं, वे सेना में स्पोर्ट्स कोटा के तहत भर्ती हुए थे। इनके राष्ट्रीय कोच सेंटिआगो नीवा हैं। बॉक्सिंग में गोल्ड जीतकर अमित ने भारत को 15वां गोल्ड दिलाया है। इससे पहले सिर्फ 1951 में भारत 15 गोल्ड हासिल करने में कामयाब रहा था। उस समय भारत को एथलीट में 10, डाइविंग में दो, फुटबॉल में एक, स्विमिंग में एक और वाटर पोलो में एक गोल्ड मेडल मिले थे।

एशियन गेम्स 2018 : बॉक्सिंग में गोल्ड जीतने वाले अमित के छलके आंसू, जब गूंजा राष्ट्रगान