क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : सिमडेगा के एक थाने में पदस्थापित जमादार के एक बेटे द्वारा कॉलेज छात्रा के साथ शादी के नाम पर यौन शोषण करने के मामले में महिला थाने में दर्ज प्राथमिकी के बाद मुख्यालय एएसपी वन अमित रेणु घटनास्थल पर पहुंचे और जांच की. जांच करने के बाद उन्होंने केस के अनुसंधानकर्ता को कार्रवाई करने का आदेश दिया. गौरतलब हो कि इस संबंध में पीडि़ता ने अदालत में बयान दर्ज करा दिया है. यौन शोषण के आरोप में आरोपी जमादार के बेटे सूरज सिंह पर महिला थाने में भादवि 376/506 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

क्या है प्राथमिकी में

जानकारी के मुताबिक, पीडि़ता ने पुलिस में दर्ज प्राथमिकी में कहा है कि वह रांची के चुटिया इलाके में रहती है. उसके पिता की मौत हो चुकी है. सूरज सिंह शादी का प्रलोभन देकर उसके साथ एक साल तक यौन शोषण किया. जब शादी के लिए दबाब डाला तो उसने साफ मना कर दिया. बोला, मुझे शादी नहीं करनी है. इस संबंध में उसने महिला थाना में 31 मई, 2018 को शिकायत की थी. थाना में काउंसिलिंग के लिए बुलाया गया था और उसने काउंसिलिंग में शादी करने से मना कर दिया. कोर्ट में शिकायतवाद दायर करने के बाद आरोपी द्वारा माफी मांगी जाने लगी. वह उसकी बातों में आ गई. इसके बाद आरोपी ने सितंबर में उसकी नानी घर जाकर शारीरिक संबंध बनाए और शादी का आश्वासन दिया. फिर, उसने स्कॉरपियो में शारीरिक संबंध बनाए. गर्भवती होने के बाद उसने शादी का दबाव डाला तो उसे गर्भपात की दवा लाकर दे दी. वह बार-बार पेट दर्द की दवा है कहकर खिलाने लगा. जब उसने मना किया तो कहा कि वह एएसआई का बेटा है. उसका कुछ नहीं बिगाड़ पाएगी.