allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: भाजपा की मौजूदा सरकार स्वच्छता की जिस मशाल का प्रकाश चारों ओर फैला रही है उसके अग्रदूत स्वयं पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई थे. यह कहना है कि इलाहाबाद के पूर्व डिप्टी मेयर मुरारी लाल अग्रवाल का. वह कहते हैं कि 1999 में चुनाव जीतने के बाद यूपी के सभी 14 डिप्टी मेयर अटलजी के लखनऊ स्थित आवास में उनसे मुलाकात करने गए थे. उस दौरान अटलजी ने सभी से अलग-अलग मुलाकात की थी. उन्होंने मुरारीलाल से कहा था कि अपने शहर में जाकर जनता की सेवा करो. अगर उनके चेहरे पर मुस्कान है तो समझो आपकी प्रतिज्ञा सफल हुई. उन्होंने सभी डिप्टी मेयर से कहा कि अपने अपने महानगरों में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखिए. अगर शहर स्वच्छ रहेगा तो जनता स्वस्थ रहेगी. बीमारियों पर लगाम लगेगी. एक स्वच्छ शहर के द्वारा स्वस्थ शहर की नीव रखी जा सकती है. उन्होंने स्वच्छता को सबसे अधिक आवश्यक बताया था.

अटल के निधन पर शोक

हमने एक महान विभूति को खो दिया हे. जिसकी पूर्ति संभव नही है. वह एक महान राष्ट्रनेता थे और हम सभी के लिए प्रेरणा के स्त्रोत. भारतीय राजनीति में उनके निधन के बाद खाली हुए स्थान को भर पाना आने वाले कई सालों तक संभव नही होगा. उनके जाने से राष्ट्र अपूर्णनीय क्षति हुई है.

यज्ञदत्त शर्मा, विधायक विधान परिषद

-भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहार बाजपेई के निधन से राजनैतिक क्षितिज का चमकदार प्रकाश पुंज का अंत हो गया. वह भारतीय राजनीति के अजातशत्रु थे. दलों की सीमाओ से ऊपर उनका व्यक्तित्व था. तभी उन्होंने बंग्लादेश के उदय के बाद पूर्व पीएम स्व. इंदिरा गांधी को देवी दुर्गा कहा था.

प्रमोद तिवारी, सांसद राज्यसभा

-भारत ने अपना एक महान सपूत खो दिया है. जो पार्टी से उठकर देश और समाज की चिंता करते थे. उनके सिद्धांत हमेशा कार्यकर्ताओं सहित प्रत्येक भारतीय का मागदर्शन करते रहेंगे. जिससे मजबूत भारत का निर्माण हो सके. भारतीय राजनीति के इतिहास में अटल अध्याय स्वर्ण अध्याय होगा.

सिद्धार्थनाथ सिंह, स्वास्थ्य मंत्री उप्र शासन

-भारत रत्‍‌न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई के निधन से देश को बहुत नुकसान हुआ है. जिसकी भरपाई कर पाना संभव नही है. वह भाजपा के साथ साथ इस देश के लिए एक धरोहर थे. जिनके निधन से मुझे व्यक्तिगत तौर पर दुख पहुंचा है. मैं उनकी आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना करती हूं.

नीलम करवरिया, विधायक मेजा

-अटलजी का जीवनकाल ऐतिहासिक रहा. उन्होंने बता दिया कि नान कांग्रेस गवर्नमेंट पांच साल तक इंडिया में सर्वाइव कर सकती है. उनकी पहल पर ही हमारा देश पूरे विश्व में न्यूक्लियर पावर बनकर उभरा है. उनके निधन से पूरा देश दुखी है. उनका व्यक्तित्व किसी पार्टी या दल से ऊपर उठकर था.

हर्षव‌र्द्धन बाजपेई, विधायक शहर उत्तरी