नई दिल्ली (पीटीआई)। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अब हमारे बीच नहीं रहे। उन्होंने नई दिल्ली के एम्स अस्पताल में गुरुवार को करीब शाम पांच बजे आखिरी सांसे ली। बता दें कि अटल जी 12 बार संसद के सदस्‍य रह चुके हैं, जिसमें से 10 बार लोकसभा और 2 बार राज्यसभा के सांसद रहे हैं। 1991 से 2009 तक वाजपेयी ने 10वीं, 11वीं, 12वीं, 13वीं और 14वीं लोकसभा में लखनऊ का प्रतिनिधित्व किया। उन्होंने दूसरी और चौथी लोकसभा में बलरामपुर का प्रतिनिधित्व किया, पांचवीं लोकसभा में ग्वालियर और छठीं और सातवीं लोकसभा में नई दिल्ली का नेतृत्व किया।

तीन बारे बने प्रधानमंत्री
इसके बाद 1962 और 1986 में उन्हें राज्यसभा के लिए चुना गया था। दिसंबर, 2005 में, वाजपेयी ने मुंबई में एक पार्टी की सभा के दौरान राजनीति से रिटायरमेंट की घोषणा कर दी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वह लगभग 47 वर्षों तक संसद के सदस्य रहे। 1996 से 2004 के बीच वाजपेयी ने तीन बार प्रधानमंत्री के रूप में कार्य किया, पहली बार वे 13 दिनों के लिए प्रधानमंत्री बने, फिर 1998 और 1999 के बीच 13 महीने और फिर 1999-2004 के बीच पूरे सत्र के लिए इस पद पर रहे।

जब अटल जी का दिया गया बैट लेकर पाकिस्तान मैच खेलने चले गए थे सौरव गांगुली

जानिए कैसे मिसाइल मैन कलाम को अटलजी ने बनवाया राष्‍ट्रपति

National News inextlive from India News Desk