- जब वयोवृद्ध पिता ने कहा बेटे के साथ प्रवेश लेने आएं हैं तो प्रिंसिपल कुर्सी से उछल पड़े

- राजनीति शास्त्र से एमए की डिग्री ली, लेकिन कानून की पढ़ाई बीच में छोड़ गए

kanpur@inext.co.in

KANPUR: डीएवी कॉलेज के पूर्व छात्र रहे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई व उनके पिता कृष्ण बिहारी बाजपेई ने एक ही क्लास में और हॉस्टल के एक रूम में रहकर पढ़ाई की. पूर्व पीएम ने आगरा यूनिवर्सिटी से राजनीति शास्त्र में सेकेंड रैंक हासिल कर नाम रोशन किया था. उनकी मेमोरी बहुत ही शार्प थी, अगर कोई उनसे मिलने गया तो तुरंत पहचान जाते थे. कानपुर की बालूशाही व इमरती के अलावा गुलाब जामुन उनकी पसंदीदा मिठाई थी.

परिवार के तीन सदस्य डीएवी में पढ़े

भारत रत्न पूर्व पीएम अटल बिहारी बाजपेई ने ग्वालियर के विक्टोरिया कॉलेज से बीए की शिक्षा प्राप्त कर आगे की पढ़ाई के लिए कानपुर के डीएवी कॉलेज का रूख किया. खास बात यह थी कि उनके पिता कृष्ण बिहारी बाजपेई भी डीएवी में उनके साथ शिक्षा लेने के लिए तैयार हो गए तो वह आश्चर्य चकित रह गए. डीएवी कॉलेज के तत्कालीन प्रिंसिपल कालका प्रसाद भटनागर के सामने लाठी लेकर पहुंचने वाले वयोवृद्ध शख्स ने कहा कि वह एडमिशन लेने आए हैं तो वह कुर्सी से उछल पड़े. पिता के साथ अटल बिहारी बाजपेई ने भी प्रवेश के लिए प्रिंसिपल को अप्लीकेशन दी. यह न्यूज कॉलेज में फैली तो हर छात्र पिता-पुत्र की जोड़ी देखने के लिए बेताब हो गया. पूर्व पीएम बाजपेई के बड़े भाई प्रेम बिहारी बाजपेई ने भी डीएवी कॉलेज से कानून की पढ़ाई की थी.

यूनिवर्सिटी में सेकेंड रैंक हासिल की थी

डीएवी कॉलेज के गांधी ब्लॉक के रूम नंबर 104 में पिता पुत्र ने अपनी शिक्षा शुरू की. फाइनल में राजनीति शास्त्र की पढ़ाई पर फोकस किया. डीएवी में उस टाइम 11 छात्र थे, जिसमें कि तीन फ‌र्स्ट डिवीजन पास हुए थे. आगरा यूनिवर्सिटी में सेकेंड रैंक हासिल कर उन्होंने कॉलेज और परिवार का नाम रोशन किया. डीएवी कॉलेज में उन्हें डॉ एम एम पांडेय व डॉ प्रधान ने पढ़ाया था.

तीन तरह की मिठाई मित्र को खिलाई

राजनीति शास्त्र की पढ़ाई के टाइम उनके सहपाठी रहे डॉ राम मोहन सिंह ने बताया कि जब अटल जी पीएम बने तो वह उनसे मिलने दिल्ली गए. पीएम हाउस में जब पर्ची भेजी कि आपका सहपाठी राम मोहन सिंह डीएवी कॉलेज कानपुर तो उन्होने तुरंत ही अंदर बुलाया और बोले आओ राम मोहन कैसे हो. डॉ राम मोहन सिंह के बेटे डॉ रोहित मोहन ने बताया कि पिता जी का सभी से परिचय कराया. जब पिता जी ने मिठाई प्रेम का जिक्र किया तो बाजपेई जी ने हां करते हुए तीन तरह की मिठाई उन्हें खिलाई थी.

'' डीएवी कॉलेज में पूर्व पीएम भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेई ने एमए राजनीति शास्त्र की डिग्री ली है. डीएवी कॉलेज प्रिंसिपल को एक लेटर भेजकर अटल जी ने हास्टल लाइफ व कॉलेज की दिनों की यादों का जिक्र किया था. इयर 2003 में कॉलेज की प्रकाशित हुई पत्रिका में उस लेटर को पब्लिश किया गया.

डॉ. अमित श्रीवास्तव, प्रिंसिपल डीएवी कॉलेज