-मेडिकल कॉलेज के रास्ते शहर में आई अटल जी की अस्थियां

-निपाल क्लब से सीएम योगी आदित्यनाथ समेत सांसद, विधायक समेत कार्यका‌र्त्त व पदाधिकारी पहुंचे राजघाट

GORAKHPUR: राजनीति के अजातशत्रु भारत रत्‍‌न अटल बिहारी बाजपेयी को गोरखपुर ने शनिवार को नम आखों से विदा किया. भारी भीड़ केसाथ शहर केनिपाल क्लब से राजघाट तक लोग अपने प्रिय नेता को याद कर नमन करते रहे. जगह-जगह फूल बरसाकर जब तक सूरज चांद रहेगा अटल जी का नाम रहेगा के नारों से पूरा माहौल गुंजायमान रहा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजघाट तट से राप्ती नदी में मंत्रोच्चार के साथ अटल जी की अस्थियों को विसर्जित किया.

अटल जी की अस्थियां शनिवार दोपहर गोरखपुर पहुंची. यहां शहर के निपाल क्लब में श्रद्धांजलि सभा हुई. निपाल क्लब में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ स्वयं मौजूद रहे. श्रद्धांजलि सभा में शहर के लोगों के अलावा बीजेपी और अन्य राजनैतिक व गैर राजनैतिक संगठनों के लोगों ने भी श्रद्धासुमन अर्पित किया.

फूलों की होती रही बारिश

निपाल क्लब से यात्रा निकली तो तय रूट के दोनों तरफ भारी संख्या में लोग अपने प्रिय नेता को नमन करते हुए नारे लगाते रहे. जगह-जगह फूलों की बारिश की जाती रही और रोक कर लोग पुष्पाजंलि अर्पित करते रहे. निपाल क्लब से हरिओम नगर चौराहा, कचहरी चौराहा, शास्त्री चौक, अलहदादपुर, दुर्गा मंदिर, नार्मल तिराहा होते हुए अस्थियों को राजघाट ले जाया गया. राजघाट पर राप्ती नदी में जनप्रिय नेता की अस्थियों को विसर्जित कर दिया गया.

अल्पसंख्यक समुदाय ने भी अर्पित किए श्रद्धा सुमन

भटहट कस्बे में अस्थि कलश यात्रा पहुंचने पर सभी वर्गो के लोगों ने पुष्पांजलि अर्पित की. अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश महामंत्री इफ्तेखार हुसैन के नेतृत्व में शहंशाह आलम, इजहार अली, दिलशेर अली, जाहिद अली आदि ने अस्थि कलश को श्रद्धांजलि अर्पित किए.

सुरक्षा की व्यवस्था रही चांक-चौबंद

यात्रा मार्ग पर सुरक्षा की व्यवस्था चाक-चौबंद रही. पुलिस और पीएसी के जवानों के साथ अफसर भी लगातार पेट्रोलिंग करते रहे. शहर में यात्रा पहुंचते ही विभिन्न मार्गो पर रूट डायवर्जन लागू कर दिया गया. इसका पुलिसकर्मियों ने सख्ती से पालन किया. किसी को भी वाहन समेत यात्रा मार्ग में घुसने नहीं दिया गया.