- पुलिस की लापरवाही से नाराज पार्षदों के साथ लोगों ने थाने का घेराव, प्रदर्शन

- एक आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार, इंस्पेक्टर हुसैनगंज को हटाया

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : हुसैनगंज के उदयगंज इलाके में बाबू बनारस दास वार्ड नंबर 55 से पार्षद हर्षित दीक्षित पर मामूली विवाद के चलते हमला कर दिया गया. पार्षद पर हमले का आरोप एक टैक्सी ड्राइवर पर है. मारपीट की इस घटना में पार्षद के सिर व शरीर पर गंभीर चोट लगी. वहीं इस मामले में सही समय पर पुलिस की कार्रवाई न होने से नाराज लोगों ने हुसैनगंज कोतवाली का घेराव कर जमकर प्रदर्शन किया. मामले को तूल पकड़ा देख एसएसपी ने हुसैनगंज इंस्पेक्टर को जांच पूरी हो जाने तक पद से हटाते हुए एसपी पूर्वी दफ्तर से अटैच कर दिया है. पार्षद पर हुए हमले के आरोपी टैक्सी ड्राइवर को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

घर के बाहर सोने का किया था विरोध
पार्षद हर्षित का कहना है कि गुरुवार की रात उनके घर के बाहर एक टैक्सी ड्राइवर बहराइच निवासी मनोज सो रहा था. पार्षद ने मनोज को वहां से हटने के लिए कहा. जिस पर टैक्सी ड्राइवर भड़क गया और गाली गलौज करने लगा. गाली का विरोध करने पर उसने पार्षद पर हमला कर दिया. इस घटना में पार्षद के सिर व शरीर पर कई जगह चोट आ गई. पार्षद का आरोप है कि हमले की सूचना उन्होंने स्थानीय पुलिस को घटना की सूचना दी थी. घटना के घंटों बाद भी पुलिस न तो मौके पर पहुंची और न ही थाना प्रभारी पहुंचे. यही नहीं पार्षद से मुलाकात भी नहीं की.

घेराव, नारेबाजी और कूड़ा फेंका गया थाने में
पार्षद पर हमले की जानकारी शुक्रवार सुबह पार्षद, सफाई कर्मचारियों और स्थानीय लोगों को हुई. हुसैनगंज पुलिस ने सही समय पर कार्रवाई न करने पर लोगों का आक्रोश फूट पड़ा. इसी बात को लेकर स्थानीय लोग सहित इलाके के सफाई कर्मचारी भड़क उठे. देखते ही देखते लोगों की भारी भीड़ थाने के बाहर जमा हो गई. प्रदर्शन कर रहे लोगों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी. नाराज सफाई कर्मियों ने कोतवाली में कूड़ा डालना शुरु कर दिया. स्थिति पर काबू पाने के लिए कई थानों से पुलिस बुला लिया गया.

अफसरों को भी नहीं बक्शा आक्रोशित भीड़ ने
सीओ हजरतगंज अभय कुमार, एएसपी पूर्वी सर्वेश मिश्रा समेत कई अधिकारी हुसैनगंज थाने पहुंचे. लोगों का आरोप है कि सुबह भी थाना प्रभारी को कॉल करके घटनास्थल पर आने के लिए कहा गया था. पर उन्होंने जवाब दिया कि वह सो रहे हैं. लोग कोतवाली प्रभारी को हटाए जाने की मांग कर रहे थे. वहीं बीजेपी और अन्य दलों से कई पार्षद भी मौके पर पहुंच गए. थाने के बाहर पार्षदों ने अफसरों और पुलिस कर्मियों पर लापरवाही का आरोप लगा खरी खोटी सुनाई.

जांच पूरी होने तक हटाया गया
इस मामले को तूल पकड़ा देख मौके पर मौजूद पुलिस के अधिकारियों ने सारी बात एसएसपी कालानिधि नैथानी को बताई. हुसैनगंज इंस्पेक्टर आनंद प्रकाश की भूमिका और उन पर लगे आरोप को देखते हुए एसएसपी ने जांच पूरी हो जाने तक पद से हटाने का आदेश दिया. उनको एसपी पूर्वी के दफ्तर से अटैच किया गया. वहीं हंगामे के बीच हुसैनगंज पुलिस ने आरोपी टैक्सी चालक मनोज को भी गिरफ्तार किया. इंस्पेक्टर के हटाने जाने और आरोपी की गिरफ्तारी के बाद प्रर्दशन कर रहे लोग शांत हो गये. हालांकि शाम होते होते इंस्पेक्टर आनंद शुक्ला को अलीगंज थाने की जिम्मेदारी सौंपी गई.