सूचना पर पहुंची पीआरवी से भिड़े परिजन

खोराबार एरिया के रामगढ़ गांव की घटना

GORAKHPUR खोराबार एरिया के रामगढ़ गांव में बंधक युवती को छुड़ाने गई पुलिस पर लोगों ने हमला बोल दिया. परिजनों के पक्ष में उतरे गांव के लोगों की हरकत से अतिरिक्त फोर्स बुलाई गई. काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने लोगों को काबू किया. पुलिस पर हमले के मामले में आठ नामजद और 90 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर पुलिस कार्रवाई में जुटी है.

सूचना पर पहुंची पीआरवी

गुरुवार दोपहर रामगढ़ गांव के अवधेश की बेटी प्रियंका ने पुलिस को सूचना दी. बताया कि उसके चाचा-चाची, सौतेली मां के साथ मिलकर कमरे में बंद कर जलाने की तैयारी कर रहे हैं. युवती की सूचना पर पुलिस हरकत में आ गई. पुलिस पहुंची तो युवती को कमरे से बाहर निकालने की कोशिश में जुट गई. इस दौरान परिवार वालों से कहासुनी होने पर मामला बढ़ गया.

गांव के लोगों संग मिलकर बोला हमला

पुलिस वालों से कहासुनी होने पर गांव के लोग भी जुटने लगे. पुलिस रिस्पांस व्हीकल में तैनात राम सुधाकर पांडेय, धर्मदत्त और उपेंद्र सिंह ताला खुलवाने का प्रयास करते रहे. पुलिस के दबाव बनाने पर विवाद होने लगा. आरोप है कि गांव के लोगों ने पुलिस टीम पर हमला बोल दिया. तोड़फोड़ होने पर पीआरवी में तैनात कर्मचारी सकते में आ गए. सूचना देकर थाना से अतिरिक्त फोर्स मंगाई गई. फोर्स के पहुंचने पर युवती को छुड़ाया जा सका. हमला करने के आरोप में पुलिस ने आठ नामजद सहित करीब 90 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया.