PATNA: जीजा और साली के अफेयर में बड़ी घटना हो गई. साढ़ू बाधा बना तो उसे रास्ते से हटाने के लिए बड़ा प्लान तैयार कर लिया. जीजा साली की इस प्रेम कहानी में साढ़ू पर धारदार हथियार से हमला किया गया. पुलिस की सक्रियता से वह बाल बाल बच गया और पीएमसीएच में भर्ती है. उधर 15 दिन बाद गुरुवार को अपराधियों की गिरफ्तारी हो गई.

-हत्या करने का था प्लान

पटना के सिगोढ़ी थाना क्षेत्र के नवधरी गांव निवासी वीरन मांझी की पत्‍‌नी से साढ़ू उसके योगेन्द्र मांझी का अवैध संबंध था. यह अवैध संबंध जीजा शाली में शादी के पहले से ही चल रहा था. शादी के बाद वीरन मांझी, जीजा-शाली के अवैध संबंध में रोड़ा बना हुआ था. इसको लेकर योगेन्द्र मांझी ने अपने मामा और साथी के साथ मिलकर वीरन मांझी को रास्ते से अलग करने का प्लान तैयार किया. उसका प्लान था कि वह साढ़ू को रास्ते से हटा देगा और फिर साली के प्रेम में कोई बाधा नहीं रहेगी.

-मरा समझकर हो गए फरार

31 मई को खिलाने-पिलाने के नाम पर योगेंद्र मांझी ने अपने साढ़ू वीरन मांझी को बुलाया. इस दौरान पहले से घात लगाए बैठे तीनों बदमाशों ने वीरन मांझी को मारने की नीयत से तेज हथियार द्वारा गर्दन पर वार कर दिया. घटना में वह गंभीर रूप से घायल हो गया. बदमाश उसे मरा जानकर छोड़कर भाग गए. इस बीच जब पुलिस पहुंची तो वीरन की जान बची थी और सांस चल रही थी. पुलिस के गस्ती वाहन की नजर सड़क पर पड़े जख्मी वीरन पर पड़ी और उसे तत्काल अस्पताल पहुंचाया गया. बाद में पीएमसीएच में भर्ती कराया गया जहां अभी इलाज चल रहा है.

-पुलिस टीम ने किया खुलासा

एसएसपी ने निर्देश पर पालीगंज डीएसपी मनोज कुमार पांडे के नेतृत्व में टीम गठित की. सिगोढ़ी थाना की पुलिस के साथ पूरी टीम काम कर रही थी. पुलिस को इनपुट मिला कि जख्मी वीरन मांझी की पत्‍‌नी का अवैध संबंध अपने जीजा योगेन्द्र मांझी से है और वह घटना के दिन से फरार है. पुलिस ने योगेन्द्र मांझी को परसा बाजार से गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में योगेन्द्र ने घटना के पीछे अपनी प्रेम कहानी सुना दी. पुलिस ने योगेन्द्र मांझी के मामा नेकी मांझी और साथी नन्हे मांझी को भी किंजर थाना एरिया से गिरफ्तार कर लिया हैं.