अब कॉमर्शियल वाहनों से खत्म हुई रंगों की बाध्यता

बाइक पर मात्र बी लिखाकर संचालित हो सकेंगे कॉमर्शियल बाइक

कलर कोडिंग से शहर में अवैध वाहनों पर लगेगी रोक

MEERUT। कॉमर्शियल वाहनों के नाम पर हो रहे फर्जीवाड़े को रोकने के लिए परिवहन विभाग अब कॉमर्शियल वाहनों के कलर कोड और पहचान को बदलने जा रहा है। इसके तहत सबसे पहले शहर की सड़कों पर दौड़ रही कॉमर्शियल वाहनों को रंगों की बाध्यता खत्म करने के लिए कुछ विशेष गाइड लाइन जारी की हैं। वहीं कॉमर्शियल बाइक और ई रिक्शा के कलर कोड में परिवर्तन करते हुए परिवहन विभाग ने सभी तिपहिया कॉमर्शियल वाहनों के कलर को निर्धारित कर दिया है। यह व्यवस्था इस माह से जनपद में लागू हो जाएगी। एआरटीओ श्वेता वर्मा ने बताया कि मुख्यालय स्तर पर इस प्रस्ताव पर सहमति बन चुकी है। नई व्यवस्था के तहत जल्द आदेश लागू किया जाएगा।

कॉमर्शियल वाहनों की श्रेणी में संचालित होने वाली कैब, टैक्सी या वैन पहले विशेष रंग के आधार पर होती थी संचालित

परिवहन विभाग ने किसी भी कलर के वाहन को बतौर कॉमर्शियल वाहन संचालित करने का आदेश दिया है

इस वाहन पर चमकीली रंग की पट्टी लगानी अनिवार्य होगी।

हालांकि इस चमकीली पट्टी का रंग टैक्सी के हिसाब से अलग होगा।

बाइक टैक्सी के लिए भी परिवहन विभाग ने नीले, काले या पीले काले रंग की बाध्यता हुई खत्म

अब कॉमर्शियल बाइक पर सिर्फ 20 सेमी के गोले में टंकी के दोनो तरफ बी लिखना अनिवार्य होगा।

ऑटो, टेंपो व ई-रिक्शा के रंग भी होंगे निर्धारित

जिन वाहनों पर यह निर्धारित रंग नही होगा उनका संचालन नही होगा।

ये होंगे रंग

सीएनजी ऑटो

हरा

ई रिक्शा

सफेद

सामान्य ऑटो

पीला रंग